Ashadh Month 2022 Do This Upay Remedies Wish Will Be Fulfilled

16

Ashadh Month 2022: हिंदी पंचांग के अनुसार, इस साल आषाढ़ का महीना 15 जून से शुरू हो गया है और यह माह 13 जुलाई को समाप्त होगा. उसके बाद हिंदी कैलेण्डर का पांचवां माह सावन शुरू होगा. हिंदू धर्म ग्रंथों में आषाढ़ महीने को कई महत्वपूर्ण प्रमुख पर्वों एवं त्योहारों का महीना माना जाता है. इस महीने में तांत्रिक विद्या की सिद्धि के लिए की जाने गुप्त नवरात्रि पड़ती है. इसके अलावा इसी माह में भगवान विष्णु पृथ्वी लोक को छोड़कर क्षीर सागर में योग निद्रा के लिए चले जाते हैं. उसके बाद पृथ्वी लोक की देखभाल भगवान शिव करते हैं. ऐसे में यह माह भगवान विष्णु और भगवान शिव दोनों की पूजा के लिए उत्तम माह माना जाता है.

आषाढ़ के महीने में जगन्नाथ रथ यात्रा भी की जाती है. इसी माह में देशयानी एकादशी का व्रत भी रखा जाता है जो कि भक्तों को मृत्यु के बाद मोक्ष दिलाती है. यह माह हवन के लिए भी उत्तम माह माना जाता है. आषाढ़ के महीने में घर और कार्य स्थल पर हवन करने से उन्नति का मार्ग प्रशस्त होता है.

धार्मिक मान्यता है कि आषाढ़ माह में हमेशा सूर्योदय से पहले उठना चाहिए. मान्यता है कि आषाढ़ माह में सूर्योदय से पहले उठकर स्नानादि करके पूजा –उपासना करने से व्यक्ति अनेक प्रकार की बीमारियों से मुक्त हो जाता है. मन में सकारात्मक ऊर्जा का संचार होता है. इसके साथ ही लोगों की सारी मनोकामना भी पूर्ण होती है.  

आषाढ़ के महीने में दान का भी बहुत महत्व है. मान्यता है कि इस माह में गरीब और जरूरतमंद लोगों को यथा शक्ति दान देना चाहिए. इस महीने में आप किसी गरीब को नमक, छाता, आंवला और चप्पल आदि दान कर सकते हैं. कहा जाता है कि ऐसा करने से भगवान विष्णु और शिवजी दोनों प्रसन्न होते हैं और जातक को मनोकामना पूर्ण करने का फल प्रदान करते हैं.

Ashadh Month 2022: 15 जून से शुरू हो चुका है आषाढ़ माह, इन बातों का रखेंगे ध्यान तो होगा लाभ

 

Disclaimer: यहां मुहैया सूचना सिर्फ मान्यताओं और जानकारियों पर आधारित है. यहां यह बताना जरूरी है कि ABPLive.com किसी भी तरह की मान्यता, जानकारी की पुष्टि नहीं करता है. किसी भी जानकारी या मान्यता को अमल में लाने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से सलाह लें.

Source link