मऊ में आयोजित शिविर में 292 लोगों को लगाए गए कोरोना रोधी टीके

36

टीकाकरण के दौरान गैर जिम्मेदाराना रहा एएनएम का रवैया

भास्कर न्यूज
मोहनलालगंज,लखनऊ।
मोहनलालगंज नगर पंचायत के मऊ स्थित प्राथमिक विद्यालय प्रथम के परिसर में कोरोना से बचाव के लिए सोमवार को स्वास्थ्य विभाग की ओर से निःशुल्क कोरोनारोधी टीकाकरण शिविर का आयोजन किया गया। सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र मोहनलालगंज के सहयोग से आयोजित निःशुल्क शिविर में 292 ग्रामीणों को

 

कोविड शील्ड और को-वैक्सीन के फर्स्ट और सेकंड डोज के कोरोनारोधी टीके लगाए गये। इस बारे में युवा नेता मनीष तिवारी ने बताया कि पहले यहां के लोग वैक्सीन के नाम से ही डरते थे। ग्रामीणों को घर-घर जाकर टीका के बारे में जागरूक किया गया। अब लोग टीका लेने के लिए आगे आ रहे हैं। जहां एक भी लोग टीका लेने के लिए तैयार नहीं होते थे उस स्थान पर 292 लोगों ने टीका

 

लगवा कर एक मिसाल कायम किया। शिविर को सफल बनाने मे मनीष तिवारी के अलावा प्रिंस वर्मा, शशांक सोनी ने जहां तत्काल मौके पर ही ग्रामीणों का रजिस्ट्रेशन करने में सहयोग किया। वहीं एएनएम रिंकी श्रीवास्तव, दीप्ति वर्मा के साथ ही आशा बहुओं सरला यादव, राधा गुप्ता और आंगनबाड़ी कार्यकत्री सुमन चौरसिया व सावित्री देवी का महत्वपूर्ण योगदान रहा। एएनएम रिंकी श्रीवास्तव और एएनएम दीप्ति वर्मा ने ग्रामीणों को टीका लगाया।

 

टीकाकरण के दौरान गैर जिम्मेदाराना रहा एएनएम का रवैया—
निःशुल्क शिविर में काफी लोग टीका लगवाने पहुंचे थे। बढ़ती भीड़ देख समूचा स्टाफ सहयोग में लगा था वहीं शिविर में रजिस्ट्रेशन कर रही एएनएम दीपाली का रवैया बेहद गैर जिम्मेदाराना रहा उन्होंने शाम चार बजे के बाद रजिस्ट्रेशन करने से साफ इंकार कर दिया। जिसकी शिकायत ग्रामीणों ने सीएचसी अधीक्षिका

 

ज्योति कामले से की तो सीएचसी अधीक्षिका ने एक घंटे और टीकाकरण करने के निर्देश दिए। लेकिन उसके बावजूद एएनएम दीपाली भड़क उठीं और नाराजगी जताते हुए मौके से चली गईं। जिसके चलते रजिस्ट्रेशन का कार्य बाधित हो गया और काफी लोग टीकाकरण से वंचित रह गए। एएनएम के इस रवैये से ग्रामीणों में आक्रोश व्याप्त है।