आयुर्वेद चिकित्सालय में पोषण सप्ताह पर आंगनवाड़ी वर्करों को किया प्रशिक्षित

43

भास्कर न्यूज

लखनऊ।राजधानी के राजकीय आयुर्वेदिक महाविद्यालय एवं चिकित्सालय में प्रधानाचार्य डा.पीसी सक्सेना के निर्देशानुसार धनवंतरी जयंती के उपलक्ष्य में मनाए जा रहे पोषण सप्ताह पर शनिवार को लगभग पचास से अधिक शहरी व ग्रामीण

 

आंगनवाड़ी वर्करों को पोषण की कमी से होने वाली बीमारियों के बारे प्रशिक्षण दिया गया। पोषण सप्ताह पर प्रसूति एवं स्त्री रोग विभाग की डा. कचंना गुप्ता,डा.शशि शर्मा, डा.रेशमा,डा.शिखा शर्मा द्वारा प्रशिक्षण में शामिल सभी आंगनवाड़ी वर्करों को पोषण के बारे में विस्तृत चर्चा के दौरान बताया कि गर्भवती महिलाए व धात्री महिलाए में पोषण की कमी से बच्चों में पायी जाने वाली बी​मारियां प्रमुख है ।

 

कहा कि पोषण सप्ताह का मुख्य उदेश्य यही है कि आंगनवाड़ी वर्कर अपने—अपने क्षेत्रों में महिलाओं को पोषण के बारे में जागरूक करें।जिससे बच्चें कुपोषण के शिकार होने से बच सकें।वहीं शामिल आंगनवाड़ी वर्कर ने पोषण की कमी के बारे में डाक्टरों से ​विस्तृत जानकारी प्राप्त की।डा.पीसी सक्सेना ने बताया कि चिकित्सालय पोषण के बारे में जागरूक करता रहेगा।

 

जिससे पोषण की कमी से होने वाली बीमारियों से लोगों की निजात मिल सके।चिकित्सालय के प्रवक्ता डा. धमेन्द्र सिंह ने बताया कि आयुर्वेद सप्ताह पर पचास से अधिक शहरी व ग्रामीण आंगनवाड़ी वर्करों ने कार्यक्रम में शामिल हूई। डाक्टरों ने पोषण ​की कमी से नवजात शिशु में होने वाली बीमारियोंं के बारे में संगोष्ठी के माध्यम से अवगत कराया।