amit shah sharad pawar meeting: अमित शाह और शरद पवार की गुपचुप मीटिंग: amit shah sharad pawar meeting and Maharashtra Politics

253

हाइलाइट्स:

  • अनिल देशमुख पर शिवसेना और एनसीपी में बयानबाजी से सत्ताधारी महाविकास अघाड़ी गठबंधन में खटास के संकेत
  • एनसीपी सुप्रीमो शरद पवार की केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह से मुलाकात की मीडिया रिपोर्ट्स ने सियासी सरगर्मी तेज कर दी
  • सियासी जानकार कयास लगा रहे हैं कि महाराष्ट्र में बड़ा उलटफेर हो सकता है, जिसे उद्धव सरकार के लिए खतरे की घंटी के रूप में देखा जा रहा है

मुंबई
महाराष्ट्र के गृह मंत्री अनिल देशमुख पर शिवसेना और एनसीपी में बयानबाजी ने जहां राज्य में सत्ताधारी महाविकास अघाड़ी गठबंधन में खटास के संकेत दिए हैं। वहीं एनसीपी सुप्रीमो शरद पवार की केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह से मुलाकात की मीडिया रिपोर्ट्स ने सियासी सरगर्मी तेज कर दी है।

इस मुलाकात पर अमित शाह ने यह कहकर सस्पेंस बढ़ा दिया कि हर बात सार्वजनिक नहीं की जाती। इससे सियासी जानकार कयास लगा रहे हैं कि महाराष्ट्र में जल्द बड़ा उलटफेर हो सकता है, जिसे उद्धव सरकार के लिए खतरे की घंटी के रूप में देखा जा रहा है।

प्राइवेट जेट से अहमदाबाद गए थे पवार!
बताते हैं, अहमदाबाद में बीजेपी के करीबी कारोबारी के कॉरपोरेट हाउस पर शरद पवार और प्रफुल्ल पटेल की अमित शाह के साथ बैठक हुई। अहमदाबाद जाने के लिए पवार ने प्राइवेट जेट इस्तेमाल किया था। इस मुलाकात से पहले यह कारोबारी बारामती में शरद पवार से मिले थे।

अनिल देशमुख ऐक्सिडेंटल होम मिनिस्टर हैं। जयंत, दिलीप वलसे-पाटिल ने यह पद लेने से इनकार किया तो उन्हें मिला।

संजय राउत

जानकार, शिवसेना के मुखपत्र ‘सामना’ में देशमुख पर लगाए आरोपों और उन्हें ‘ऐक्सिडेंटल’ गृह मंत्री बताने को इसी मुलाकात से उपजी टीस के रूप में देख रहे हैं। शिवसेना नेता संजय राउत ने ‘सामना’ में लिखा कि NCP के सीनियर नेताओं जयंत पाटिल और दिलीप वलसे पाटिल ने यह पद लेने से इनकार किया था, इसलिए शरद पवार ने देशमुख को गृह मंत्री बना दिया।

‘100 करोड़ की वसूली’ पर बोले फडणवीस- पवार के दावे झूठे

राउत के चुभते सवाल पर चढ़ा सियासी पारा
राउत के इस कथन पर एनसीपी नेता और डेप्युटी सीएम अजित पवार ने कहा कि एनसीपी कोटे में किसे कौन पद मिलेगा, यह (एनसीपी सुप्रीमो) शरद पवार तय करते हैं। किसी और को इस पर सवाल उठाने का हक नहीं है। ऐसे बयानों से गठजोड़ में समस्याएं पैदा होंगी।

NCP कोटे में किसे कौन-सा पद मिलेगा, यह शरद पवार तय करते हैं। किसी और को सवाल उठाने का हक नहीं है।

अजित पवार (एनसीपी नेता)

कांग्रेस नेता संजय राउत ने तंज कसा कि देशमुख ने गलतियां की हैं, तो मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे खामोश क्यों हैं? बता दें, यूपीए का नेतृत्व शरद पवार को दिए जाने के राउत के बयान से कांग्रेस पहले ही शिवसेना से खफा है।

sharad pawar uddhav thackeray amit shah

फाइल फोटो: शरद पवार, उद्धव ठाकरे और अमित शाह

Source link