Afghanistan Mosque Bomb Blast photos; Kunduz News | 60 Killed, Dead Body Found In Kunduz | अफगानिस्तान की शिया मस्जिद में ब्लास्ट के बाद हर तरफ बिखरा खून, लाशें इतनी कि उठाने वाले कम पड़े

17

काबुल17 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

अफगानिस्तान के कुंदुज शहर में शुक्रवार को शिया मस्जिद में नमाज के दौरान जोरदार धमाका हुआ। इसमें 60 लोगों की मौत हो गई और 107 घायल हैं। रिपोर्ट के मुताबिक, मस्जिद में करीब 300 लोग मौजूद थे। कुंदुज के उप पुलिस प्रमुख मोहम्मद ओबैदा ने बताया कि मस्जिद में मौजूद ज्यादातर लोग मारे गए हैं।

सूचना और संस्कृति के डिप्टी मंत्री जबीउल्ला मुजाहिद ने धमाके की पुष्टि की। उन्होंने कहा कि आज दोपहर में कुंदुज के खानाबाद बंदार इलाके में शिया मस्जिद को निशाना बनाकर आत्मघाती हमला हुआ। इसमें हमारे देश के कई लोग शहीद हो गए और कई घायल हुए हैं। इस हमले की जिम्मेदारी अभी तक किसी आतंकी संगठन ने नहीं ली है।

मस्जिद में धमाके के बाद का दृश्य बेहद भयावह है। यहां खून, फटे कपड़े और मस्जिद में टूट-फूट नजर आ रही है।

मस्जिद में धमाके के बाद का दृश्य बेहद भयावह है। यहां खून, फटे कपड़े और मस्जिद में टूट-फूट नजर आ रही है।

मस्जिद की सीढ़ियों पर खून ही खून नजर आ रहा है। इस तस्वीर को देखकर धमाके की वीभत्सता का अंदाजा लगाया जा सकता है।

मस्जिद की सीढ़ियों पर खून ही खून नजर आ रहा है। इस तस्वीर को देखकर धमाके की वीभत्सता का अंदाजा लगाया जा सकता है।

इस आत्मघाती हमले में मस्जिद को भी भारी नुकसान पहुंचा है। इसकी दीवारों और छत में काफी टूट-फूट हुई है।

इस आत्मघाती हमले में मस्जिद को भी भारी नुकसान पहुंचा है। इसकी दीवारों और छत में काफी टूट-फूट हुई है।

यह मस्जिद का वह हिस्सा है, जहां नमाजी अपनी चप्पलें रखते हैं। चप्पलों की संख्या काफी अधिक है। इससे पता चलता है कि नमाज के लिए बड़ी संख्या में लोग आए थे।

यह मस्जिद का वह हिस्सा है, जहां नमाजी अपनी चप्पलें रखते हैं। चप्पलों की संख्या काफी अधिक है। इससे पता चलता है कि नमाज के लिए बड़ी संख्या में लोग आए थे।

धमाके के बाद स्थानीय लोग मौके पर पहुंचे। इस तस्वीर में कुछ लोगों को घटनास्थल की तस्वीर लेते देखा जा सकता है।

धमाके के बाद स्थानीय लोग मौके पर पहुंचे। इस तस्वीर में कुछ लोगों को घटनास्थल की तस्वीर लेते देखा जा सकता है।

धमाके के बाद स्थानीय लोग मदद के लिए आगे आए। घायलों को तुरंत अस्पताल पहुंचाने की कोशिश की गई।

धमाके के बाद स्थानीय लोग मदद के लिए आगे आए। घायलों को तुरंत अस्पताल पहुंचाने की कोशिश की गई।

एंबुलेंस के जरिए घायलों को अस्पताल ले जाया गया। घायलों की संख्या को देखते हुए मरने वालों की तादाद बढ़ने की आशंका है।

एंबुलेंस के जरिए घायलों को अस्पताल ले जाया गया। घायलों की संख्या को देखते हुए मरने वालों की तादाद बढ़ने की आशंका है।

घायलों की तादाद इतनी ज्यादा थी कि उन्हें अस्पताल ले जाने के लिए एंबुलेंस कम पड़ गई।

घायलों की तादाद इतनी ज्यादा थी कि उन्हें अस्पताल ले जाने के लिए एंबुलेंस कम पड़ गई।

घायलों और शवों को चादर में लपेटकर मस्जिद से बाहर ले जाया गया।

घायलों और शवों को चादर में लपेटकर मस्जिद से बाहर ले जाया गया।

हमले की चपेट में आए लोगों को एंबुलेंस के जरिए अस्पताल पहुंचाने में स्थानीय लोगों ने काफी मदद की।

हमले की चपेट में आए लोगों को एंबुलेंस के जरिए अस्पताल पहुंचाने में स्थानीय लोगों ने काफी मदद की।

खबरें और भी हैं…

Source link