21 को भारत रत्न विषय पर 300 कवि एवं कवित्री करेंगे कविता पाठ

73

फेसबुक पर लाइव कविताओं का होगा मैराथन

भास्कर न्यूज

लखनऊ।इस महा काव्य अनुष्ठान डा.राजीव पाण्डेय संस्थापक “अंतर्राष्ट्रीय शब्द सृजन के बैनर तले हो रहा है।भारत रत्न विषय पर 21 नवम्बर को विश्व रिकॉर्ड के लिये हिंदुस्तान का सबसे बड़ा काव्योत्सव होने जा रहा है। जिसमें एक विषय पर 300 कवि कवयित्री कविता पाठ करेंगे।

राजेश कुमार सिंह”श्रेयस”लखनऊ की अध्यक्षता में ज़ूम प्लेटफार्म सम्पन्न हुई संचालन समिति की बैठक में कार्यक्रम के सफल आयोजन पर विचार किया गया।जानकारी देते हुए राजेश कुमार सिंह ने बताया कि हिंदी साहित्य में हमारे देश के महान व्यक्तित्व जिन्हें देश के सबसे बड़े सम्मान “भारत रत्न” से सम्मानित किया गया है।

उन पर काव्यात्मक कार्य नहीं हुआ है इसी को दृष्टिगत रखते हुए 21 नवम्बर को प्रातः10 बजे से रात्रि 10 बजे तक काव्य मैराथन में भारत रत्न विषय पर अपनी लिखी हुई कविता का संस्था के फेसबुक पेज और पटल पर 300 कवि कवयित्री लाइव काव्य पाठ करके एक नया विश्व कीर्तिमान स्थापित करेंगे।सिंह ने बताया कि इस कार्यक्रम में एक ही विषय पर 12 घण्टों में सर्वाधिक कवियों की सृजित कविताओं का पाठ किया जाएगा।

ऐसा कार्य हिंदी साहित्य के लिए अद्भुत एवं अकल्पनीय होगा।साथ ही सिंह ने यह भी बताया कि जो रचनाएँ इस काव्योत्सव में पढ़ी जाएगी उन्हीं रचनाओं से एक ग्रन्थ प्रकाशित किया जाएगा जो अपने आप में एक कालजयी ग्रन्थ होगा।

ज्ञातव्य है कि डॉ राजीव कुमार पाण्डेय संस्थापक अंतराष्ट्रीय शब्द सृजन मंच,विषय आधारित कार्यक्रम करने के लिये विश्व मे अपनी पहचान रखते हैं। उनके किसी भी कार्यक्रम या कवि सम्मेलन में सभी कवि उनके द्वारा दिये गए विषय पर ही काव्यपाठ करते हैं।

गत वर्ष 151 कवियों पर परमवीर चक्र विजेताओं पर एक कार्यक्रम किया था और एक कृति भी प्रकाशित हुई थी भारत के’ इक्कीस परमवीर’ जिसका दूसरा संस्करण बाजार में आ चुका है।
भारत के भारत रत्न काव्य मैराथन कार्यक्रम में विश्व के अनेक देशों के रचनाकार सहभागिता कर रहें हैं एवं दिए गए विषय पर बड़े उत्साह के साथ कविता का सृजन कर रहे हैं।

भारत के 48 भारत रत्न से सम्मानित महान व्यक्तित्व पर कविताओं का सृजन हो इसके लिये संस्था ने 30-30 कवियों के समूह बनाकर संस्था के कर्मठ पदाधिकारियों को जिम्मेदारी सौंपी हैं। संस्था के महासचिव ओंकार त्रिपाठी(दिल्ली) इस कार्य की मॉनिटरिंग कर है हैं।

दस समूह के संचालन की जिम्मेदारी को अनुपमा पाण्डेय’भारतीय’ बृज माहिर,गार्गी कौशिक,रजनीश स्वछंद,कुसुमलता ‘कुसुम’,राजेश सिंह ‘श्रेयस’,देवेन्द्र शर्मा ‘देव’,श्वेता सिन्हा(आयोवा अमेरिका)डॉ रजनी शर्मा ‘चन्दा’,मैत्री मेहरोत्रा, निभा रहे हैं। ये सभी इस संस्था के सम्मानित पदाधिकारी हैं।

इस कार्यक्रम में देश विदेशके ख्याति प्राप्त रचनाकारों को आमंत्रित किया गया है।