राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी: राज्यपाल को वापस बुलाएं मोदी-शाह: शिवसेना – modi-shah should bring governor back: shiv sena

11
मुंबई
राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी और मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के बीच पत्रयुद्ध के बाद शिवसेना ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृहमंत्री अमित शाह से मांग की है कि राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी को वापस बुला लिया जाए। शिवसेना ने यह मांग अपने मुखपत्र के जरिए की है।

शिवसेना ने अपने मुखपत्र सामना के संपादकीय में गुरुवार को राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी पर एक बार फिर जोरदार हमला बोलेते हुए लिखा है कि अगर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह राजभवन की प्रतिष्ठता बरकरार रखना चाहते हैं, तो महाराष्ट्र के राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी को वापस बुला लेना चाहिए।

बता दें कि पिछले दिनों राज्यपाल ने पूजा स्थलों को खोले जाने को लेकर मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे को पत्र लिखा था और पूछा था कि ‘क्या आप अचानक सेकुलर हो गए हैं।’ इस वक्तव्य के लिए राज्यपाल की काफी आलोचना हो रही है। मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे भी इस पत्र के जवाब में एक कड़ा पत्र लिखकर राज्यपाल को जवाब दे चुके हैं, जिसमें मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने दो टूक शब्दों में यहां तक कह दिया कि मुझे आपसे हिंदुत्व के सर्टिफिकेट की आवश्यकता नहीं है। मुख्यमंत्री ने राज्यपाल को यह भी याद दिलाया कि जिस संविधान की शपथ लेकर वे राज्यपाल बने हैं, सेकुलरिज्म उस संविधान का महत्वपूर्ण घटक है।

इसके बाद गुरुवार को शिवसेना ने नया आरोप यह भी लगाया है कि राज्यपाल के इस तरह की भाषा से भाजपा का पर्दाफाश हो गया है और राज्यपाल के सहारे महाराष्ट्र सरकार पर हमला करना भाजपा को महंगा पड़ गया है।

गोवा के मुख्यमंत्री को चिट्ठी क्यों नहीं लिखते राज्यपाल
शिवसेना ने यह भी सवाल उठाया है कि राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी गोवा के भी राज्यपाल हैं, फिर वह ऐसी ही चिट्ठी गोवा के मुख्यमंत्री को क्यों नहीं लिखते? जबकि गोवा में भी कई बड़े मंदिर हैं और इस समय बंद हैं। बता दें कि गोवा में भाजपा की सरकार है। शिवसेना ने यह भी कहा है कि अगर भाजपा को लगता है कि कोरोना वायरस संक्रमण के दौर में मंदिर खोले जाने चाहिए, तो उन्हें केंद्र सरकार से इस पर एक राष्ट्रीय नीति बनाने की मांग करनी चाहिए।

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here