14 जून से फल-सब्जी, रेहड़ी-पटरी वालों को अभियान चलाकर लगाएं वैक्सीन, सीएम योगी ने दिए निर्देश

78

आठ जून से पटना में दो जगहों पर 24 घंटे वैक्सीन सेंटर की शुरुआत हो रही है (प्रतीकात्मक तस्वीर)

यूपी सरकार ने वैक्सिनेशन अभियान पर खास जोर दिया है. 1 जून 18 से 44 वर्ष के लोगों के लिए शुरू किये गये वैक्सीनेशनअभियान के तहत जून में 1 करोड़, जुलाई में 3 करोड़ लोगों को वैक्सीनेट करने का लक्ष्य रखा गया है. सीएम योगी आदित्यनाथ ने फुटपाती दुकादारों, रेहड़ी-पटरी व्यापारियों को कोरोना की वैक्सीन लगाने के निर्देश दिए हैं.

लखनऊ. उत्तर प्रदेश ( Uttar Pradesh ) में कोरोना वायरस की रफ्तार अब धीमी हो चली है. लगातार प्रयासों से पॉजिटिविटी दर मात्र 0.3 प्रतिशत रह गई है, जबकि रिकवरी दर बेहतर होकर 97.8 प्रतिशत हो गया है. उत्तर प्रदेश में कुल 15,681 एक्टिव केस हैं, जबकि महाराष्ट्र जैसे राज्यों की आबादी यूपी से आधी होने के बाद भी हर दिन अधिक नए केस आ रहे हैं. हांलाकि यूपी सरकार ने इस बीच वैक्सिनेशन अभियान पर खास जोर दिया है, 1 जून 18 से 44 वर्ष के लोगों के लिए शुरू किये गये वैक्सीनेशनअभियान के तहत जून में 1 करोड़ जुलाई में 3 करोड़ लोगों को वैक्सीनेट करने का लक्ष्य रखा गया है. सीएम योगी आदित्यनाथ ने फुटपाती दुकादारों, रेहड़ी-पटरी व्यापारियों को कोरोना की वैक्सीन लगाने के निर्देश दिए हैं.

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने वरिष्ठ अधिकारियों के साथ बैठक कर कहा है कि कोविड वैक्सीनेशन संक्रमण से बचाव का सुरक्षा कवच है. केंद्र सरकार के सहयोग से उत्तर प्रदेश सरकार सभी नागरिकों का यथाशीघ्र टीका-कवर देने के लिए संकल्पित है. अब तक प्रदेश में 02 करोड़ 02 लाख से अधिक डोज लगाए जा चुके हैं. सोमवार से महिलाओं के लिए विशेष टीकाकरण केंद्र प्रारंभ किए गए हैं. महिलाओं-बेटियों को इससे टीकाकरण में और सुविधा मिल सकेगी.

सीएम योगी ने अपने आदेश में कहा है कि दूध विक्रेता, सब्जी विक्रेता, ऑटो, टैम्पो और ई-रिक्शा चालक, ठेला, खोमचा, रेहड़ी, पटरी व्यवसायी संबंधित वर्ग का टीकाकरण आगामी सोमवार से शुरू कर दिया जाए. ग्राम्य विकास, नगर विकास व परिवहन विभाग से समन्वय स्थापित कर इन सभी लोगों को टीका-कवर से आच्छादित करने की कार्यवाही हो. आपको बता दें कि प्रदेश में बीते 24 घंटे में कोविड संक्रमण के 727 नए केस आए हैं. प्रतिदिन केस 1000 से कम होना संतोषजनक है. इसी अवधि में 2,860 लोग स्वस्थ होकर डिस्चार्ज भी हुए हैं. 9,286 होम आइसोलेशन में उपचाराधीन हैं. अब तक कुल 16 लाख 62 हजार लोग कोरोना से स्वस्थ हो चुके हैं.







Source link