एक निजी कंपनी के झांसे में आकर ठगे गये 10 लोग, पुलिस ने तहरीर लेकर शुरू की जांच

48

– किसी ने बाइक गिरवी रख जमा की रकम तो किसी ने बिटिया के जेवर रख जमा किये 12 हजार 800 रुपये

भास्कर न्यूज
गोसाईंगंज, लखनऊ। लालच में आकर भोले भाले ग्रामीण ठगी का शिकार हो गए। किसी ने अपनी बाइक गिरवी रखकर पैसे जमा किये थे, तो किसी ने पत्नी के जेवर व बर्तन गिरवी रख दिये। एक नेटवर्किंग कंपनी में सभी ने 12 हजार 800 रूपये नकद जमा किये।

कंपनी ने सपना दिखाया कि जल्दी ही सभी को मोबाइल गाड़ी आदि मिलेगा। लेकिन जब लोगों को ठगी का अहसास हुआ तो कार्रवाई शुरू की।शनिवार को पीड़ितों ने गोसाईंगंज ब्लॉक प्रमुख विनय वर्मा डिंपल से मिलकर पूरी व्यथा सुनाई। इस पर ब्लॉक प्रमुख ने स्थानीय पुलिस को कार्रवाई के लिये कहा है।

बता दें कि पूरा मामला एक निजी कंपनी से जुड़ा है। ग्रामीणों का आरोप है कि सपने दिखाकर सभी से 12 हजार 800 रूपये जमा कराये गये। ठगी का शिकार 10 लोगों ने गोसाईंगंज पुलिस को लिखित शिकायती पत्र देकर कहा है, कि अनिल कुमार गुप्ता नामक व्यक्ति ने उनसे पैसे जमा कराये।

जब पैसे वापस मांगे तो कहा गया कंपनी का काम करो और ज्यादा से ज्यादा लोगों से पैसा जमा कराकर कम्पनी में जोड़ो तभी फायदा होगा। इनमें राजकुमार निवासी सेंगटा ने अपनी बाइक गिरवी रखकर कंपनी में पैसे जमा किये। जबकि दयाराम ने बर्तन बेचने के साथ ही बिटिया की जेवर गिरवी रख दी।

मुनेश्वर ने भी जेवर गिरवी रखकर पैसे जमा किये। ठगे गये सभी महिलाओं व पुरुषों ने गोसाईंगंज थाने जाकर अपनी पूरी बात बताई और लिखित शिकायत दी। तहरीर मिलने के बाद पुलिस आरोपी के गोसाईंगंज स्थित कार्यालय पर गई जहां ताला बंद मिला। ब्लॉक प्रमुख विनय वर्मा डिंपल ने कहा पीड़ित उनसे मिलने आये थे। उनकी पूरी बात सुनने के बाद लिखित शिकायत करने गोसाईंगंज थाने भेजा गया।