सॉफ्टबैंक ने अपने आईपीओ के साथ बाजार को बनाए रखने के लिए पॉलिसीबाजार का किया समर्थन

19

मुंबई:
ऑनलाइन बीमा मार्केटप्लेस पॉलिसीबाजार ने बाजार से 6,017.50 करोड़ रुपये जुटाने के लिए आरंभिक सार्वजनिक निर्गम के लिए भारतीय प्रतिभूति विनिमय बोर्ड के पास एक मसौदा रेड हेरिंग प्रॉस्पेक्टस दाखिल किया है।

इसके साथ, पॉलिसीबाजार देश की बढ़ती डिजिटल अर्थव्यवस्था का समर्थन करने के लिए पूंजी बाजार से धन जुटाने की तलाश में भारतीय स्टार्टअप की बढ़ती संख्या में शामिल हो गया है।

आईपीओ पॉलिसीबाजार के पैरेंट पीबी फिनटेक लिमिटेड द्वारा किया जाएगा। इस इश्यू में 3,750 करोड़ रुपये के इक्विटी शेयरों का ताजा इश्यू और मौजूदा शेयरधारकों और प्रमोटरों द्वारा 2,267.50 करोड़ रुपये की बिक्री की पेशकश शामिल है।

ओएफएस में एसवीएफ पायथन आईआई (केमैन) द्वारा 1,875 करोड़ रुपये तक के शेयरों की बिक्री होगी और अन्य द्वारा 392.50 करोड़ रुपये तक की बिक्री होगी।

कंपनी ने आईपीओ से पहले शेयरों की नियुक्ति के जरिए 750 करोड़ रुपये जुटाने का भी प्रस्ताव रखा है। इस बारे में कंपनी पहले ही रेगुलेटर के साथ जानकारी शेयर कर चुकी है।

आईपीओ के जरिए जुटाई गई रकम का एक बड़ा हिस्सा कंपनी के संचालन के विस्तार और विकास योजनाओं को आगे बढ़ाने के लिए इस्तेमाल किया जाएगा। रिपोटरें से पता चलता है कि पॉलिसीबाजार 5.5-6 अरब डॉलर के मूल्यांकन की मांग कर रहा है।

पॉलिसीबाजार को सॉफ्टबैंक, टेमासेक, इंफो एज, टाइगर ग्लोबल मैनेजमेंट और टेनसेंट होल्डिंग्स लिमिटेड जैसे निवेशकों का समर्थन प्राप्त है, जिसकी स्थापना 2008 में विशाल अंडर-सर्विस्ड भारतीय बीमा बाजार का दोहन करने के लिए की गई थी।

यह आईपीओ एक अन्य भारतीय स्टार्टअप जोमैटो द्वारा प्राप्त अच्छी प्रतिक्रिया के बाद है। इस आईपीओ को बाजार से जबरदस्त प्रतिक्रिया मिली है, जिसके शेयरों में 80 फीसदी से अधिक का उछाल आया है।

पॉलिसीबाजार व्यवसाय मॉडल पर काम करता है जो अपने ग्राहकों को विभिन्न मूल्य बिंदुओं पर नीतियों का विकल्प प्रदान करता है। और उन्हें बीमा पर एक सूचित निर्णय लेने में मदद करता है।

इस आईपीओ की सफलता से इसी तरह की संस्थाओं के लिए बाजार का दोहन करने के लिए द्वार खुलने की उम्मीद है।

कोटक महिंद्रा और मॉर्गन स्टेनली पीबी फिनटेक के आईपीओ के वैश्विक कोऑर्डिनेटर हैं। अन्य बुकरनर में सिटीग्रुप, आईसीआईसीआई सिक्योरिटीज, एचडीएफसी बैंक, आईआईएफएल सिक्योरिटीज और जेफरीज शामिल हैं।

डिस्क्लेमरः यह आईएएनएस न्यूज फीड से सीधे पब्लिश हुई खबर है. इसके साथ न्यूज नेशन टीम ने किसी तरह की कोई एडिटिंग नहीं की है. ऐसे में संबंधित खबर को लेकर कोई भी जिम्मेदारी न्यूज एजेंसी की ही होगी.



Source link