सुशांत सिंह राजपूत: पुलिस आयुक्त परमबीर सिंह को निलंबित करने की प्रधानमंत्री से मांग – demand from prime minister to suspend police commissioner parambir singh

48
मुंबई
अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की मौत के मामले में भाजपा ने अब मुंबई के पुलिस आयुक्त परमबीर सिंह पर निशाना साधा है। भाजपा विधायक अतुल भातखलकर ने सीधे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र लिखकर परमबीर सिंह को निलंबित करने की मांग की है।

भातखलकर ने पत्र में लिखा है कि मुंबई पुलिस ने शुरू से ही मामले को दबाने की कोशिश की है और आकस्मिक मौत दर्ज की। उन्होंने प्रधानमंत्री ने मांग की है कि धारा 311 (2) (बी) और (सी) का उपयोग करते हुए परमबीर सिंह को तत्काल मुंबई पुलिस आयुक्त पद से हटाया जाए। पत्र की एक प्रति गृह मंत्री अमित शाह को भी भेजी गई है। भातखलकर ने पत्र में लिखा है कि सुशांत सिंह राजपूत की मौत का मामला देश की वित्तीय राजधानी में सार्वजनिक हित का मामला है। इसलिए माफी मांगते हुए इसमें हस्तक्षेप कर रहा हूं।

पत्र में आरोप लगाया गया है कि सुप्रीम कोर्ट ने उपलब्ध सूचना के आधार पर सीबीआई जांच की अनुमति दी, लेकिन मुंबई पुलिस आयुक्त परमबीर सिंह और अभिषेक त्रिमुखे के नेतृत्व में पुलिस ने कोई प्रगति नहीं की है और इससे न्याय प्रभावित हुआ है। कई मुद्दे सामने आए, लेकिन इस पर ध्यान नहीं दिया गया।

पुलिस द्वारा मीडिया के सामने मृतक की निजी जानकारी सार्वजनिक की गई थी, जो अदालत के नियमों का अपमान है। बिहार IPS अधिकारी को क्वारंटीन किया गया। तो यह स्पष्ट था कि परमबीर सिंह किसी को क्लीन चिट देने के लिए उत्सुक थे। भातखलकर ने यह भी आरोप लगाया कि मामले में जांच अधिकारी त्रिमुखे का व्यवहार संदिग्ध था और वह रिया चक्रवर्ती के संपर्क में था। 65 दिनों तक इस मामले में मुंबई पुलिस द्वारा कोई प्राथमिकी दर्ज नहीं की गई। रिया चक्रवर्ती सुशांत की रिश्तेदार नहीं हैं फिर भी, उसे कूपर अस्पताल के मुर्दाघर में जाने की अनुमति दी गई। कुछ स्रोतों के अनुसार, डॉक्टरों ने कहा है कि सुशांत के शव का बिना कोरोना टेस्ट किए ही शव परीक्षण करने का दबाव मुंबई पुलिस ने बनाया था। ।

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here