सीतापुर पुजारी कमलेश मिश्रा हत्याकांड का खुलासा: तंत्र से बेटा पैदा करने के नाम पर शारीरिक शोषण थी वजह | sitapur – News in Hindi

223

पुलिस के गिरफ्त में आरोपी

पुलिस ने हत्या के पीछे जो वजह बताई है वह भी चौंकाने वाला है. आरोप है कि संतान प्राप्ति की आड़ में दो साल तक तंत्र साधना के नाम पर एक महिला का शारीरिक शोषण किया गया.


  • News18Hindi

  • Last Updated:
    September 14, 2020, 9:49 AM IST

सीतापुर. उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के सीतापुर (Sitapur) जनपद के महोली कोतवाली क्षेत्र में शनिवार को एक पुजारी व तांत्रिक कमलेश चंद्र मिश्रा (Kamlesh Chandra Mishra) की निर्मम हत्या (Murder Case) का खुलासा रविवार को पुलिस (Police) ने कर दिया. इस मामले में पुलिस ने मृतक तांत्रिक कमलेश मिश्रा के एक शिष्य व महिला समेत तीन लोगों को गिरफ्तार किया है. पुलिस ने हत्या के पीछे जो वजह बताई है वह भी चौंकाने वाला है. आरोप है कि संतान प्राप्ति की आड़ में दो साल तक तंत्र साधना के नाम पर एक महिला का शारीरिक शोषण किया गया. बावजूद इसके संतान न होने पर हत्या की पूरी पटकथा लिखी गई. पुलिस ने इस मामले में तांत्रिक के शिष्य व उसकी महिला रिश्तेदार सहित तीन लोगों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया. हत्यारोपियों की निशानदेही पर पुलिस ने हत्या में प्रयुक्त तमंचा भी बरामद कर लिया है.

रविवार को पुलिस अधीक्षक आरपी सिंह ने इस घटना का खुलासा करते हुए बताया कि कमलेश चंद्र मिश्रा खुद को बड़ा तांत्रिक बताता था. शनिवार को उसकी हत्या के बाद जब पुलिस ने जांच पड़ताल शुरू की तो महोली कस्बे के शुक्लन टोला निवासी मुकेश शुक्ला का नाम सामने आया. उसको हिरासत में लेकर कड़ाई से पूछताछ की गई तो परत दर परत पूरा मामला खुलता चला गया.

महिला के पति ने लिखी थी पुजारी हत्या कांड की पटकथा

महोली कोतवाली इलाके के सोनारन टोला निवासी कमलेश मिश्रा कृषक इंटर कॉलेज से रिटायर होने के बाद श्मशान घाट में मंदिर बनवा कर वहीं पर तंत्र मंत्र विद्या की पूजा पाठ करते थे. उनकी इस पूजा पाठ में कस्बे का ही रहने वाला मुकेश शुक्ला उनका साथ देता था और वह भी तंत्र मंत्र की विद्या को सीखता था. बताते हैं कि मुकेश की रिशते मे लगने वाली मौसी शालू की पुत्री की शादी 6 साल पहले भीरिया गांव निवासी अंकुल मिश्रा से हुई थी. शादी के बाद भी कोई संतान नही हुई थी, जिसे लेकर वह मुकेश के माध्यम से पुजारी कमलेश मिश्रा के सम्पर्क मे आई और पुत्री को संतान उत्पत्ति के लिए ले गई. लेकिन 2 साल तक तंत्र साधना के बाद भी उसकी पुत्री को संतान नहीं हुई. जब इस बात की जानकारी शालू के दामाद अंकुल को हुई तो उसने पत्नी के साथ तंत्र साधना की आपत्तिजनक क्रिया और संतान न होने से आहत होकर पुजारी कमलेश मिश्रा की हत्या की पूरी पटकथा लिख डाली. जिसमें अंकुल ने विलेन की भूमिका में पुजारी कमलेश के शिष्य मुकेश को रखा और उसी के माध्यम से कमलेश की हत्या करवा दी.गुरू को मारी 4 गोलियां,  12 बार चाकू से किया वार

पुजारी कमलेश तिवारी की पोस्टमार्टम रिपोर्ट में खुलासा हुआ कि उसके शिष्य मुकेश ने अपने गुरु की कितनी निर्मम तरीके से हत्या की थी. मुकेश ने अपने गुरु कमलेश को घर जाते समय मंदिर परिसर में 4 गोलियां मारी. उसके बाद उसके पूरे शरीर को चाकू से गोद दिया. यह खुलासा पोस्टमार्टम रिपोर्ट में हुआ.

हत्या की पटकथा लिखने के बाद पति चला गया दिल्ली

पुजारी कमलेश हत्याकांड की पटकथा लिखने वाले अंकुल को लेकर एसपी आरपी सिंह ने बताया की खुद को बचाने के लिए वह 9 सितंबर को अपने मौसेरे भाई के साथ दिल्ली चला गया था. उसके बाद जिस दिन पुजारी कमलेश की हत्या हुई उसके अगली सुबह वह दिल्ली से महोली वापस आ गया.

हत्याकांड का मास्टरमाइंड अंकुल है हिस्ट्रीशीटर

पुजारी कमलेश मिश्रा की हत्या कांड का मास्टरमाइंड अंकुल थाने का हिस्ट्रीशीटर है. उसके खिलाफ विभिन्न धाराओं में 10 मुकदमें दर्ज है.



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here