सीएम योगी आदित्यनाथ ने की बड़ी घोषणा, मेरठ मंडल में लगाए जाएंगे 35 ऑक्सीजन प्लांट

15

मेरठ में कोविड मरीजों की जानकारी लेने व जनपद के बढ़ते संक्रमण के मद्देनजर सीएम योगी आदित्‍यनाथ रविवार को मेरठ पहुंचे.

मेरठ में कोविड मरीजों की जानकारी लेने व जनपद के बढ़ते संक्रमण के मद्देनजर सीएम योगी आदित्‍यनाथ रविवार को मेरठ पहुंचे. सीएम ने बताया कि ब्‍लैक फंगस से निपटने के लिए क्राइसिस मैनेजमेंट ग्रुप बनाया है.

मेरठ. कोरोना महामारी (Corona Epidemic) के खिलाफ जंग को लेकर मेरठ (Meerut) पहुंचे सीएम योगी आदित्‍यनाथ (CM Yogi Adityanath) ने बड़ा एलान करते हुए कहा कि मेरठ मंडल में 35 नए ऑक्‍सीजन प्‍लांट (oxygen plants) लगाए जाएंगे. साथ ही अन्‍य जरूरी सुविधाएं भी दी जाएंगी. सीएम योगी ने कहा कि कोरोना की दूसरी लहर में मजबूती के साथ लड़ाई लड़ी जा रही है. ट्रेस-टेस्ट-ट्रीट पर ध्यान दिया जा रहा है. उन्होंने कहा कि कोरोना के एक्टिव केसों की संख्या पहले से घटी है. सुविधाओं पर जोर देते हुए कहा कि पहला केस जब प्रदेश में आया था तो हमारे पास टेस्ट तक की सुविधा नहीं थी. लेकिन आज टेस्ट व ट्रेस लगातार हो रहे हैं. सीएम ने कहा कि ऑक्सीजन एक्सप्रेस पहली बार चली थी. सीएम योगी आदित्यनाथ 3 बजे पहुंचे थे मेरठ सीएम ने बताया कि ब्‍लैक फंगस से निपटने के लिए क्राइसिस मैनेजमेंट ग्रुप बनाया है. मेरठ में कोविड मरीजों की जानकारी लेने व जनपद के बढ़ते संक्रमण के मद्देनजर सीएम योगी आदित्‍यनाथ रविवार को मेरठ पहुंचे. इनका हेलिकाप्‍टर दोपहर करीब 3 बजे पुलिस लाइन में उतरा. यहां पहले से ही एडीजी राजीव सभरवाल, कमिश्नर सुरेंद्र सिंह, आईजी प्रवीण कुमार, डीएम के बालाजी और एसएसपी अजय साहनी पुलिस लाइन में मौजूद थे. जिसके बाद भारी सुरक्षा के बीच सीएम योगी आदित्‍यनाथ यहां से सर्किट हाउस के लिए रवाना हुए. सर्किट हाउस के बाद सीएम कोविड कमांड सेंटर के निरीक्षण के लिए पहुंच गए. पुलिस लाइन में हेलिकाप्‍टर उतरने के बाद सीएम ने यहां पर पुलिसकर्मियों के लिए बने कोविड अस्‍पताल का उद्घाटन किया. यहां आधुनिक सुविधाओं के साथ 50 बेड का ऑक्‍सीजन युक्‍त अस्‍पताल बनाया गया है. मेरठ में 10 ऑक्सीजन प्लांट पर काम चल रहासीएम ने कहा कि देश ने पहली लहर को मजबूती से लड़ा, लेकिन दूसरी लहर चुनौती दे रही है. पहली लहर में आशंका व्‍य‍क्‍त की गई थी कि यूपी में कोरोना के एक्टिव केस एक लाख के पार जाएंगे. लेकिन 67 हजार तक अधिकतम रही. महाराष्‍ट्र और दिल्‍ली में जब केस बढ़े तो विशषज्ञों ने चिंता व्‍य‍क्‍त की कि एक लाख से ज्‍यादा केस हर रोज यूपी में आएंगे. लेकिन कोरोना योद्धाओं के साहस और लोगों के सहयोग से प्रदेश में 67 हजार तक अधिकतम रहा. सीएम ने कहा कि पिछले 15 दिनों के अंदर 1.45 लाख एक्टिव केस कम हुए हैं. पहले केस आने पर प्रदेश में टेस्‍क की सुविधा नहीं थी लेकिन आज 2.5 से तीन लाख तक टेस्‍ट कर सकते हैं. बेडों की संख्‍या भी जरूरत के हिसाब से बढ़ाई गई. ऑक्‍सीजन एक्‍सप्रेस की भी सुविधा उपलब्‍ध कराई गई. मेरठ मंडल में 35 नए ऑक्‍सीजन प्‍लाट लगाने की तैयारी चल रही है. मेरठ में 10 ऑक्‍सीजन प्‍लांट तैयार किए जा रहे हैं. मेडिकल किट जैसी सुविधा भी उपलब्‍ध कराई जा रही है. प्रदेश में निगरानी समितियां बनाई गई हैं. 12 हजार ग्रामीण क्षेत्र में बनाई गई हैं. समितियां कर रहीं कोरोना से जुड़े मामलों पर निगरानी सीएम ने कहा कि डाक्‍टरों की भी समितियां बनाई गई हैं. इसपर कोरोना की लहर से लेकर मरीजों की सावधानियों पर चर्चा की जाती है. डेढ़ करोड़ लोगों को वैक्‍सीन लगाई गई है. 50 हजार युवाओं को मेरठ में वैक्‍सीन दी गई है. 23 जनपदों में वैक्‍सीनेशन का काम जारी होने जा रहा है. 15 करोड़ अंत्‍योदय कार्ड धारकों को मुफ्त राशन देने का कार्य आगे बढ़ाया गया है. रिक्‍शा चालक, ई रिक्‍शा चालक व लेबर ग्रुप के लोगों को भरण-पोषण देने की व्‍यवस्‍था बनाई गई है.







Source link