संजय राउत कंगना जंग: कंगना रनौत ने कहा किसी के बाप में दम है तो मुंबई आने से रोके, संजय राउत ने बताया मेंटल – sanjay raut call kangana ranaut is mental

50

हाइलाइट्स:

  • कंगना राउत ने कहा 9 को पहुंच रही हैं मुंबई किसी के बाप में दम हो तो रोक ले
  • संजय राउत ने कहा ऐसी भाषा का प्रयोग सभ्य महिला को शोभा नहीं देता
  • संजय राउत ने कंगना को बताया मेंटल, बोले मुंबई और मुंबई पुलिस का किया अपमान
  • बोले जिस खाली में खाया, उसी में थूका, पीओके जाएं खर्चा हम देंगे

मुंबई
कंगना रनौत का मुंबई को लेकर दिया गया बयान तूल पकड़ता जा रहा है। रीसेंटली उन्होंने कहा था कि उन्हें मुंबई पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर जैसा लग रहा है। इस पर कई सिलेब्स ने कंगना के विरोध में ट्वीट किया है। कंगना ने शुक्रवार को कहा कि वह 9 को मुंबई पहुंच रही हैं किसी के बाप में हिम्मत है तो रोक ले। इस पर शिवसेना के सांसद संजय राउत ने कहा है आने दें देखेंगे। इतना ही नहीं उन्होंने कंगना को मेंटल कहा है। वहीं उन्होंने यह भी कहा कि वह पीओके चली जाएं वह अपने खर्च पर उन्हें भेज देंगे।

कंगना बोलीं- आ रही हूं मुंबई
कंगना रनौत ने ट्वीट किया है, मैं देख रही हूं कई लोग मुझे मुंबई वापस न आने की धमकी दे रहे हैं इसलिए मैंने तय किया है कि 9 सितंबर को मुंबई आऊंगी। मैं मुंबई एयरपोर्ट पर पहुंचकर टाइम पोस्ट करूंगी, किसी के बाप में हिम्मत है तो रोक ले।

संजय बोले-ऐसी भाषा का का नहीं करना चाहिए प्रयोग
कंगना के बयान पर एक निजी चैनल ने संजय राउत से सवाल किया। संजय राउत ने कहा कि कंगना ने महाराष्ट्र का अपमान किया है। और मुंबई पुलिस का अपमान किया है। वह अगर हिमाचल से सुरक्षा ला रही हैं तो अब यह उनकी जिम्मेदारी है। हमने यह नहीं कहा कि उनके साथ हमारी व्यक्तिगत दुश्मनी नहीं है। लेकिन उन्हें इस तरह की भाषा का प्रयोग नहीं करना चाहिए।

‘जिस शहर ने शोहरत दी उसका कर रहीं अपमान’
शिवसेना के राज्यसभा सांसद संजय राउत ने कहा कि जिस शहर में कंगना रह रही हैं, जिस शहर में आप रहते हैं। जहां कमाते हो। उस शहर और पुलिस के बारे में अनाप-शनाप बाते कर रही हैं। मुंबई पुलिस ने हमले में लोगों को बचाया। कसाब को पकड़ा, कोरोना के संकट काल में 50 से ज्यादा पुलिसवालों ने अपनी जान दी और उस मुंबई पुलिस के बारे में वह ऐसी बातें कर रही हैं।

‘क्या मानसिकता है?’
पढ़ी लिखी महिला हैं। उन्हें यह शोभा देता है। यह मेंटल केस है। जिस तरह से लोग बोल रहे हैं । झांसी की रानी का अपमान करते हैं। आपकी मानसिकता क्या है। धमकियां देना मेरा काम नहीं है। हवा तलवार चलाना। हवा में बंदूक चलाना हमारा काम नहीं है।

‘पीओके जाएं, खर्चा हम देंगे’

संजय राउत ने कहा कि जिस तरह की भाषा का वह प्रयोग कर रही हैं हम लोग नहीं कर सकते हैं। उन्होंने कहा, ‘वह जिस थाली में खा रही हैं, उसी में थूक रही हैं। कुछ राजनीतिक दल उनका समर्थन कर रहे हैं। अगर वह पीओके जाना चाहती हैं तो दो दिन के लिए चली जाएं। हम ही पैसा दे देंगे। एक बार देख लें पीओके क्या है। वहां कैसा है।’

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here