लखनऊ: ठेले से बांट उठा ले गई थी पुलिस, CM योगी ने लिया संज्ञान, तराजू देने घर पहुंचे पुलिसकर्मी

82

लखनऊ पुलिस का अमानवीय चेहरा सामने आया, सीएम के संज्ञान लेने पर फल विक्रेता को तराजू देने पहुंचे और तोहफे भी दिये. (तस्वीर- सोशल मीडिया)

लखनऊ की एक तस्वीर वायरल हुई थी, जिसमें एक पुलिसकर्मी द्वारा ठेले पर आम लगाने वाले एक आम विक्रेता का बाट छीन लेने की बात कही गई थी. बताया जा रहा है कि आम विक्रेता ने बार बार मना करने के बावजूद गलत जगह पर अपना ठेला लगाया था.

लखनऊ. मुख्यमंत्री के संज्ञान लेते ही गरीब फल विक्रेता के घर इलेक्ट्रॉनिक तराजू और तोहफा लेकर लखनऊ पुलिस पहुंच गई. बता दें कि लखनऊ में फल विक्रेता की तस्वीर वायरल हुई थीं, जिसमें एक दरोगा और पुलिस वाला ठेले पर आम लगाने वाले एक आम विक्रेता का तराजू और बांट छीनकर बाइक से जा रहे थे और दुकानदार को धमका रहे थे. बताया जा रहा है कि आम विक्रेता के कोरोना प्रोटोकॉल का पालन करने और बार-बार मिन्नतें करने के बावजूद पुलिस वाले नहीं माने और उसका बांट ले गए, फल विक्रेता उनके पीछे-पीछे दौड़ा, लेकिन वह नहीं माने. आम विक्रेता रोते हुए लौट आया. इसी तस्वीर का संज्ञान CM योगी ने आज लिया है.

लखनऊ न्यूज, CM योगी आदित्यनाथ, गरीब फल विक्रेता, इलेक्ट्रॉनिक तराजू्, तोहफा, लखनऊ पुलिस, न्यूज अपडेट, lakhanoo nyooj, chm yogee aadityanaath, gareeb phal vikreta, ilektronik taraajoo, tohapha, lakhanoo pulis, nyooj apadet Lucknow News, CM Yogi Adityanath, poor fruit seller, electronic scales, gifts, Lucknow Police, news updates

लखनऊ पुलिस का अमानवीय चेहरा सामने आया. (तस्वीरें- सोशल मीडिया)

मुख्यमंत्री जी ने इस वाकये को संज्ञान में लिया और संबंधित अधिकारियों को गरीब दुकानदारों के साथ संवेदनशीलता बरतने औरों उनकी सहायता के निर्देश दिए. जिसके पश्चात पुलिस अधिकारी इसका फल विक्रेता के घर पहुंचे, उसे तोहफा दिया, उसका सारा फल खरीदा और साथ में उसे इलेक्ट्रॉनिक तराजू भी दिया.

बता दें कि एक गरीब ठेला वाला आम बेच रहा था, मास्क भी लगाए था, सोशल डिस्टेंसिंग का पालन भी कर रहा था लेकिन दरोगा और पुलिस कर्मी अपनी हनक के आगे कुछ सुनने को तैयार न थे. उस गरीब का बाट ले लिया, बेचारा ठेले वाला दरोगा से विनती करता रहा, उनकी गाड़ी के आगे आकर हाथ जोड़ता रहा, यहां तक की ठेले वाला रोने लगा, लेकिन उन्होंने उसकी एक न सुनी. वीडियो वायरल हुआ तो सीएम योगी आदित्यनाथ ने संज्ञान लिया.







Source link