रमजान के लिए गाइडलाइन जारी, घर में नमाज अदा करने की अपील

27

अलविदा की नमाज को लेकर एडवाइजरी जारी की गई है.

Corona Guideline for Last Friday of Ramzan: कोरोना (COVID-19) के बढ़ते खतरे के बीच उत्तर प्रदेश में रमजान की आखिरी जुमे को होने वाली अलविदा की नमाज को लेकर एडवाइजरी जारी की गई है.

प्रयागराज. रमजान (Ramzan 2021) के पाक महीने में सात मई को आखिरी जुमे को होने वाली अलविदा की नमाज पर कोरोना (COVID-19) का खौफ साफ तौर पर दिखायी दे रहा है. अलविदा की नमाज में भी कोविड प्रोटोकॉल का पूरी तरह से पालन कराया जाएगा. कोरोना के संक्रमण को देखते हुए लोग घरों में ही नमाज अदा करेंगे. मस्जिदों में मस्जिदों के इमाम और मुतवल्ली के अलावा पांच और लोग ही नमाज अदा कर सकेंगे. आईजी प्रयागराज रेंज केपी सिंह के मुताबिक कोविड को लेकर शासन की ओर से भी इसको लेकर गाइडलाइन जारी की गई है, जिसका सख्ती से पालन कराया जाएगा. आईजी कहा है कि सोशल डिस्टेंसिंग मेंटेन करने के लिए ही लोगों से घरों में नमाज अदा करने की अपील की गई है. इसके साथ ही मुस्लिम धर्मगुरु भी लोगों से इस बात की मस्जिदों से अपील कर रहे हैं कि कोरोना के संक्रमण को देखते हुए लोग घरों में नमाज अदा करें और लोगों से गले न मिलें जिससे सोशल डिस्टेंसिंग का उल्लंघन होने पर किसी भी तरह से कोरोना के संक्रमण फैलने का खतरा हो. धर्म गुरुओं की लोगों से अपील धर्म गुरुओं ने लोगों से अपील की है कि वे अपने घरों में ही रहकर जौहर की नमाज अदा करें, क्योंकि जुमे की नमाज जमात में पढ़ी जाती है, लेकिन कोरोना के चलते लोगों के एक जगह इकठ्ठा होने पर रोक लगी है. इसलिए जुमे की नमाज के लिए भी लोगों को एक जगह जुटने की इजाजत नहीं दी जा सकती है. धर्मगुरुओं ने लोगों की अपील की है कि कोरोना का संक्रमण लोगों के मिलने जुलने से ही फैलता है, इसलिए इसके प्रसार को रोकने के लिए लोग जमात में न आयें.ये भी पढ़ें: UP Panchayat Chunav: कमजोर प्रदर्शन के बाद बीजेपी में मंथन तेज, फीडबैक लेने लखनऊ पहुंचे राधा मोहन सिंह आईजी के मुताबिक धर्मगुरुओं की अपील पर लोगों का असर होता है, इसलिए धर्मगुरुओं से भी अपील है कि कोविड के संक्रमण को लेकर लोगों से मस्जिद में न आने को लेकर लगातार अपील करते रहें. उन्होंने कहा है कि पुलिस भी पब्लिक एड्रेस सिस्टम और सोशल मीडिया के जरिए भी लोगों को जागरुक कर रही है कि लोग रमजान माह के आखिरी जुमे की अलविदा नमाज में कोविड गाइडलाइन का पालन करें और कोरोना का संक्रमण कम करने में मदद करें.







Source link