यूपी में 10 मई तक बढ़ा लॉकडाउन, जानिए ई-पास के लिए कैसे कर सकते हैं अप्‍लाई| UP government extends Covid-19 curfew till 10 May know how to apply for e-pass nodark

22

कोरोना संक्रमण पर काबू के लिए यूपी सरकार ने लॉकडाउन बढ़ा दिया है.

Corona Curfew E-pass in UP: यूपी सरकार ने 10 मई सुबह सात बजे तक कोरोना कर्फ्यू बढ़ा दिया है. इसके साथ राज्‍य में जरूरी सेवाओं के लिए ई-पास (E-Pass) जारी करने की व्यवस्था शुरू कर दी है. आप भी ऐसे बनवा सकते हैं ई-पास…

लखनऊ. उत्तर प्रदेश सरकार ने कोरोना वायरस संक्रमण के बढ़ते मामलों के मद्देनजर वीकेंड कोरोना कर्फ्यू (Weekend Corona Curfew) की अवधि को बढ़ाने का ऐलान किया है. अब यूपी में 10 मई यानी सुबह सात बजे तक लॉकडाउन लागू रहेगा. इससे पहले योगी सरकार ने वीकेंड लॉकडाउन को तीन दिन के लिए बढ़ाते हुए 6 मई की सुबह सात बजे तक कर दिया था. फिलहाल राज्‍य में आवश्यक सेवाओं के साथ टीकाकरण का काम जारी रहेगा. इसके साथ यूपी सरकार ने आवश्यक वस्तुओं और आवश्यक सेवाओं से जुड़े लोगों के लिए ई-पास (E-Pass) जारी करने की व्यवस्था शुरू कर दी है. बहरहाल, यूपी में आवश्यक वस्तुओं के आवागमन के लिए ई-पास जारी किए जा रहे हैं और आवश्यक वस्तुओं की पूर्ति करने वाली संस्थाओं को पास लेना होगा. यही नहीं, आम लोग भी चिकित्सा सेवा के लिए ई-पास अप्लाई कर सकते हैं. वहीं, अगर आपको जरूरी सेवा नहीं मिल पा रही है, तो मुख्यमंत्री हेल्प नंबर 1076 पर शिकायत कर सकते हैं. ऐसे हासिल कर सकते हैं ई-पास यूपी में ई-पास हासिल करने के लिए rahat.up.nic.in पर उपलब्ध लिंक rahat.up.nic/epass के माध्यम से आवदेन कर सकते हैं. इस पोर्टल में संस्थागत ई-पास का भी प्रावधान है, जिसमे संस्था आवेदक सहित 5 कर्मियों के लिए आवेदन का नियम है. हालांकि सभी आवेदनों का परीक्षण /सत्यापन अधिकृत अधिकारी करेंगे और फिर उसके बाद ही ई-पास जारी होगा. बता दें कि ई-पास आवेदक के मोबाइल पर मैसेज (SMS) में दिए गए लिंक पर प्राप्त किया जा सकता है और इसकी इलेक्ट्रॉनिक कॉपी भी मान्य होगी.जनपद की सीमा के साथ अंतर्जनपदीय सीमा के लिए भी ई-पास यूपी में अब जनपद की सीमा के साथ अंतर्जनपदीय सीमा के लिए भी पास जारी किए जाएंगे. इस दौरान संस्थाओं के लिए ई-पास की समय सीमा सम्पूर्ण अवधि तक होगी. जबकि आम जनता के लिए जनपदीय पास की वैधता 1 दिन और अंतर्जनपदीय पास की वैधता 2 दिन के लिए होगी. यही नहीं, चेकिंग के दौरान ई-पास का सत्यापन क्यूआर कोड के माध्यम से पुलिसकर्मियों द्वारा सुनिश्चित किया जाएगा.







Source link