युवती ने सिपाही पर लगाया धर्म बदलकर रेप करने का आरोप, धमकी देकर 3 बार कराया अबॉर्शनlove jihad and rape case lodge against up police constable in hardoi upns

11

युवती ने सिपाही पर लगाया धर्म बदलकर रेप करने का आरोप

अपर पुलिस अधीक्षक (ASP) कपिल देव सिंह का कहना है पूरे प्रकरण की जांच सीओ (CO) बघौली को सौंपी गई है.

हरदोई. उत्तर प्रदेश के हरदोई (Hardoi) जिल में एक युवती ने सिपाही पर गंभीर आरोप लगाए हैं. पीड़ित युवती ने रेप, दलित एक्ट और लव जिहाद के बनाए नये कानून उत्तर प्रदेश विधि विरुद्ध धर्म संपरिवर्तन प्रतिषेध विधेयक-2021 के तहत मामला दर्ज कराया है. आरोप है कि सिपाही ने अपना धर्म बदलकर उसका 6 साल तक यौन शोषण किया और तीन बार गर्भपात भी कराया. प्रकरण की विवेचना सीओ बघौली को सौंपी गई है. युवती उन्नाव जनपद के सफीपुर थाना इलाके की रहने वाली है.

दरअसल उन्नाव के सफीपुर की रहने वाली एक युवती ने आरोप लगाया है की हरदोई की पुलिस लाइन में तैनात सिपाही नदीम जनपद कानपुर के रूरा का रहने वाला है. युवती का आरोप है कि उन्नाव में तैनाती के दौरान वर्ष 2013 में नदीम एक एप्लीकेशन की जांच करने उसके घर गया. जहां उसने अपना नाम राहुल बताया और जांच के बहाने उसने उसका नंबर ले लिया. युवती का कहना है नदीम ने अपना नाम बदलकर राहुल किया और उसको अपना सजातीय बताया और सीओ का गनर बताते हुए झांसे में लिया और 6 माह तक शादी का झांसा देकर उसका शारिरिक शोषण करता रहा.

UP Weather Update: नोएडा, मथुरा सहित इन 10 जिलों में पलटेगा मौसम, आंधी-बारिश का अलर्ट

पीड़त युवती ने बताया कि जब उसने शादी की बात की तो राहुल बना नदीम शादी से मुकर गया.इसी बीच उसको मामले की जानकारी लग गयी तो इस पूरे मामले की शिकायत उसने उन्नाव की तत्कालीन एसपी सोनिया सिंह से की. एसपी के हस्तक्षेप के बाद राहुल बने नदीम ने उसे अपने साथ रखना शुरू कर दिया लेकिन विवाह के तहत किसी भी प्रकार की कोई कानूनी प्रक्रिया नहीं अपनाई.तीन बार पीड़िता हुई गर्भवती
इस दौरान वह तीन बार गर्भवती हुई तो सिपाही नदीम ने उसका गर्भपात भी करा दिया. आरोप है कि लगातार सिपाही उसका शारीरिक शोषण करता रहा प्रताड़ित करता रहा और धमकी भी देता रहा. परेशान होकर युवती हरदोई पहुंची और तहरीर दी. पूरे मामले में सिपाही के विरुद्ध दलित एक्ट दुष्कर्म व लव जेहाद के बनाये गए नए कानून के तहत सिपाही के विरुद्ध एफआईआर दर्ज की गई. अपर पुलिस अधीक्षक कपिल देव सिंह का कहना है पूरे प्रकरण की जांच सीओ बघौली को सौंपी गई है. जांच के बाद जो भी तथ्य सामने आएगा उसके आधार पर अन्य कार्रवाई की जाएगी.






Source link