मॉनसून में हाइजीन का इस तरह रखें ख्‍याल, अस्‍पताल जाने की नहीं आएगी नौबत– News18 Hindi

25

Maintain Hygiene In Monsoon Season: मॉनसून यानी बीमारियों का मौसम. जी हां, इस मौसम में गर्मी से तो हमें राहत मिल जाती है लेकिन वातावरण में ह्यूमिडिटी के बढ़ने की वजह से जर्म और बैक्‍टीरिया भी अपना विस्‍तार करने लगते हैं. इस मौसम में इन जर्म को प्रजनन करने का सही तापमान मिल जाता है और जहां कहीं भी इन्‍हें गंदगी या नमी मिलती है, वे वहां घंटे भर में अपना विस्‍तार करने लगते हैं. फिर चाहे वो किचन में बासी खाना हो या गीले कपड़े. ऐसे में यह जरूरी है कि हम इस मौसम (Monsoon Season) में बीमारियों की चपेट में आने से बचने के लिए कुछ खास हाइजीन (Maintain Hygiene) टिप्‍स को फॉलो करें. अगर हम बेसिक हाइजीन भी मेंटेन करें तो हम कई सेहत संबंधी समस्‍याओं से बच सकते हैं. तो आइए जानते हैं कि मॉनसून में किन बातों को ध्‍यान में रखकर हम सिजनल बीमारियों से बच सकते हैं.

1.बारिश के पानी में ना भींगे

अगर आप बारिश के पानी से गीले हो गए हैं तो हो सकता है कि आपको फंगस, खुजली, रैशेज आदि स्किन संबन्धी परेशानियों का सामना करना पड़े. इससे बचने के लिए बेहतर होगा कि आप बारिश के पानी से बचें. अगर गीले हो जाएं तो घर आकर तुरंत गर्म पानी से नहाएं और कपड़ों को भी धो लें. ऐसा करने से आप फंगल आदि से बचे रहेंगे.

2.हाथ धोते रहें

हाथ और नाखूनों के सहारे कई तरह के बैक्‍टीरिया हमारे मुंह और चेहरे तक आ जाते हैं जो कई बीमारियों का कारण बनते हैं. ऐसे में बाहर से आते ही पहले अच्‍छी तरह से हाथ को साबुन से धोएं. कोरोना महामारी के दौर में हमने हाथ धोने के महत्‍व को वैसे ही समझ लिया है. ऐसे में मॉनसून के दौरान और भी सावधानी बरतें.

इसे भी पढ़ें : पीरियड क्रैम्प्स करते हैं परेशान तो लाइफ स्‍टाइल में शामिल करें ये 5 एक्‍सरसाइज

 

3.खानपान का रखें ध्‍यान

मॉनसून के मौसम में घर का खाना खाएं. जहां तक हो बाहर का खाना ना खाएं. इस मौसम में तेल मसाले वाले भोजन से बचें और सात्विक और सुपाच्‍य भोजन को महत्‍व दें. इससे आपका पाचनतंत्र में किसी तरह की समस्‍या नहीं होगी और पेट में किसी तरह का इनफेक्‍शन नहीं होगा.

4.उबला पानी पिएं

घर पर पानी उबाल कर पिएं. आप आरओ वॉटर प्‍यूरिफायर का प्रयोग कर सकते हैं. बाहर जाना हो तो बेहतर होगा घर से पानी कैरी करें. नहीं तो डाइरिया होने की संभावना हो सकती है.

5.पानी जमा ना हो

कहीं भी पानी इकट्ठा न हो इस बात पर नजर रखें. कूलर आदि में पानी चेंज करते रहे. अगर कहीं दो दिन तक पानी समा रह गया तो वहां डेंगू, मलेरिया और चिकनगुनिया के मच्छर पनप सकते हैं. (Disclaimer: इस लेख में दी गई जानकारियां और सूचनाएं सामान्य जानकारियों पर आधारित हैं. Hindi news18 इनकी पुष्टि नहीं करता है. इन पर अमल करने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से संपर्क करें.)

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

Source link