मुंबई: आरे की 600 एकड़ भूमि जंगल के लिए आरक्षित – 600 acres of saws reserved for forest

31
मुंबई
संजय गांधी राष्ट्रीय उद्यान के पास 600 एकड़ जमीन वन संपदा के संवर्धन के लिए आरक्षित कर दी गई है। बुधवार को मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे की अध्यक्षता में वर्षा बंगले पर हुई एक बैठक में यह महत्वपूर्ण निर्णय लिया गया है। हालांकि, अब तक सरकार ने यह साफ नहीं किया है कि इस फैसले का आरे में बन रहे मेट्रो कार शेड पर क्या प्रभाव पड़ेगा।

बैठक में मुख्यमंत्री ने कहा कि किसी महानगर के बीचो बीच इस तरह से विस्तृत जंगल संरक्षित करने का यह पहला उदाहरण हैं। मुख्यमंत्री के सरकारी निवास वर्षा पर बुधवार को हुई बैठक में वन और पर्यावरण मंत्री आदित्य ठाकरे ने वन क्षेत्र संरक्षित करने का प्रस्ताव पेश किया और दुग्ध विकास मंत्री सुनील केदार ने इस प्रस्ताव का समर्थन किया। बैठक में वन मंत्री संजय राठौर नगर विकास मंत्री एकनाथ शिंदे मुख्य सचिव संजय कुमार वन विभाग की प्रधान सचिव मिलिंद म्हैस्कर आदि उपस्थित थे।

आदिवासियों का हक बरकरार
आरे कॉलोनी का 600 एकड़ इलाका संरक्षित वन क्षेत्र के लिए आरक्षित किए जाने के बावजूद यहां रहने वाले आदिवासी समुदाय तथा अन्य लोगों के हक बरकरार रखने का निर्देश मुख्यमंत्री ने दिया।

मंगाए जाएंगे आपत्ति और सुझाव
क्षेत्र को आरक्षित किए जाने के फैसले पर जनता को भी अपने आपत्ति और सुझाव दर्ज कराने का अधिकार दिया गया है। सरकार ने इसके लिए नियमानुसार 45 दिन का समय निर्धारित किया है।

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here