महिला को पति ने जबरन तेजाब पिलायाः DCW ने MP के CM शिवराज को पत्र लिखा | Woman forced to drink acid by husband in MP DCW seeks strict action against culprits

6

highlights

  • 25 वर्षीय महिला को पति ने जबरदस्ती पिलाया एसिड
  • मामले में एमपी पुलिस ने मामूली धारा में दर्ज की FIR
  • DCW स्वाति मालिवाल ने शिवराज सिंह चौहान को लिखा पत्र

नई दिल्ली :

मध्य प्रदेश के ग्वालियर में एक दिल दहला देने वाली घटना सामने आई है. जहां एक 25 वर्षीय महिला को उसके पति और उसकी ननद ने जबरदस्ती एसिड पीने पर मजबूर कर दिया. महिला की हालत बहुत ही नाजुक है और इस महिला को इलाज के लिए दिल्ली लाया गया है. जहां अस्पताल में वो अपनी जिंदगी और मौत के बीच जंग लड़ रही है. यह मामला मीडिया की सुर्खियों में तब आ गया जब दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालिवाल ने मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को पत्र लिख कर उस व्यक्ति के खिलाफ सख्त कार्रवाई की मांग की है जिसने कथित तौर पर पत्नी को जबरन तेजाब पिलाया.

महिला आयोग की प्रमुख स्वाति मालीवाल ने कहा कि महिला दिल्ली के अस्पताल में भर्ती है और उसकी स्थिति नाजुक है. मालीवाल ने मध्य प्रदेश के सीएम शिवराज सिंह चौहान से कहा कि जितनी जल्दी संभव हो सके इस मामले में दोषियों को गिरफ्तार किया जाये और साथ ही उन पुलिसकर्मियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई सुनिश्चित की जाए जिन्होंने इस मामले को संवेदनहीन तरीके से लिया.

यह भी पढ़ेंःशिल्पा शेट्टी के पति का वो बिजनेस जिसने उन्हें पहुंचाया जेल, जानें यहां

उल्लेखनीय है कि 25 वर्षीय विवाहिता को उसके पति और ननद ने 28 जून को कथित तौर पर जबरदस्ती तेजाब पिलाया था. आयोग ने कहा कि महिला के पड़ोसी ने ग्वालियर में उसे पास के अस्पताल में भर्ती कराया था. आयोग ने इस बात का दावा किया कि इस संबंध में तीन जून को मध्य प्रदेश की पुलिस ने मामले में ‘कमजोर’ प्राथमिकी दर्ज की थी, और इस मामले में से तेजाब हमले से संबंधित धाराओं को हटा दिया और इस जघन्य अपराध को घरेलू हिंसा करार दिया था.

यह भी पढ़ेंःCAA से किसी मुसलमान को कोई दिक्कत नहीं होगीः संघ प्रमुख मोहन भागवत

जब महिला की हालत ज्यादा बिगड़ गई तो उसे इलाज के लिये 18 जुलाई को दिल्ली लाया गया. उसके भाई ने आयोग की हेल्पलाइन 181 पर फोन किया, इसके बाद दिल्ली महिला आयोग की टीम ने पीड़ित को अस्पताल में भर्ती कराया और एसडीएम के समक्ष उसका बयान दर्ज करवाया. आयोग ने कहा कि महिला ने बयान में आरोप लगाया कि उसके पति का किसी महिला के साथ अवैध संबंध था और जब उसे इस बात की जानकारी मिली तो पति ने उसकी जमकर पिटाई की और उसे जबरदस्ती तेजाब पिला दिया.

यह भी पढ़ेंःराजनेताओं, न्यायाधीशों की जासूसी करना राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए खतरा: सिब्बल

मालिवाल ने मीडिया से बातचीत में बताया कि, उन्होंने स्वयं और दिल्ली महिला आयोग की सदस्य प्रमिला गुप्ता ने अस्पताल में जाकर पीड़िता से मुलाकात की. उन्होंने कहा कि महिला की स्थिति बहुत ही नाजुक है और डॉक्टरों ने बताया कि, महिला के आंतरिक अंग एसिड के असर से पूरी तरह जल गये हैं और क्षतिग्रस्त हो गये हैं. मालीवाल ने बताया कि उन्होंने मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री को इस संबंध में पत्र लिखा है और दोषियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने के लिये कहा है.



संबंधित लेख



Source link