महाराष्ट्र सरकार का बजट पेश: Maharashtra Budget 2021-22 Highlights: सड़क से मेडिकल कॉलेज…ठाकरे स्मारक के लिए 400 करोड़, जानें महाराष्ट्र बजट की 15 बड़ी बातें – fifteen main highlights of maharashtra finance budget

47

महाराष्ट्र के उप मुख्यमंत्री अजित पवार (Deputy Chief Minister Ajit Pawar) ने आज कोरोना महामारी के दौरान साल 2021-22 के लिए राज्य का आर्थिक बजट पेश किया। महाराष्ट्र अजित पवार ने इस बार 10 हज़ार 226 करोड रुपए के घाटे वाला बजट पेश किया है पिछली बार यह घाटा 9500 करोड़ रुपये था। महाराष्ट्र की महाविकास अघाड़ी सरकार का यह दूसरा बजट है। इस बजट के दौरान पैसों की तंगी के बावजूद सरकार ने हर तबके को छूने का प्रयास किया है आइए जानते हैं, बजट की कुछ खास बातें।

बीजेपी ने कहा जनता के लिए बल्कि नहीं खास लोगों के लिए बजट
महाराष्ट्र की विपक्षी पार्टी बीजेपी के नेता और पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने कहा है कि यह बजट कुछ विशिष्ट भाग और वर्ग के लोगों के लिए बनाया गया है। यह बजट निराश करने वाला है। उन्होंने कहा कि किसानों को यह बताया गया था कि जो नियमित कर्ज चुका रहे हैं। उन्हें प्रोत्साहन पैकेज दिया जाएगा लेकिन ऐसा कुछ भी बजट में प्रावधान नहीं किया गया है। पर उसने कहा कि ठाकरे सरकार की कर्ज माफी ठगने वाली कर्ज माफी है। इस बजट में किसानों को कुछ भी नहीं मिला है।

बजट की कुछ खास बातें
1) इस बजट में किसानों को राहत देते हुए अजित पवार ने कहा है कि जिन किसानों ने तीन लाख रुपये तक का लोन लिया है। उन्हें किसी भी प्रकार का ब्याज नहीं देना पड़ेगा। ब्याज पूरी तरह से सरकार वहन करेगी। राज्य में 4 नए कृषि विश्वविद्यालय भी खोलने का ऐलान किया गया है। इन यूनिवर्सिटीज के लिए सरकार ने 200 करोड़ रुपए का बजट जारी किया है

2) संक्रमण वाली बीमारियों के लिए हर जिले में अस्पताल बनाए जाएंगे आगामी 5 साल में इस प्रोजेक्ट पर 5 हज़ार करोड़ रुपये खर्च किए जाएंगे। राज्य में 8 नए हार्ट हॉस्पिटल भी खोले जाएंगे। उस्मानाबाद, सिंधुदुर्ग,अमरावती और परभणी में मेडिकल कॉलेज खोलने की बात सरकार ने कही है।

3) अजित पवार ने कहा कि स्वास्थ्य सेवाओं को और भी बेहतर बनाने के लिए राज्य में एमबीबीएस और एमडी की सीटें बढ़ाई जायेंगी। एमबीबीएस के लिए 1990 सीटें और एमडी और एमएस के लिए 1000 सीटें बढ़ाई जाएंगी।

4) स्कूली शिक्षा और खेलकूद के लिए सरकार ने 2400 करोड़ रुपए का फंड अलॉट किया है।

5) आम नागरिकों को घर देने के लिए सरकार ने 6852 करोड़ रुपए खर्च करने का लक्ष्य तय किया है।

6) महाराष्ट्र सरकार ने परिवहन विभाग के लिए 25 100 करोड़ों पर देने की बात कही है। वहीं एसटी बसों में छात्रों को मुफ्त में यात्रा करने की अनुमति भी दी जाएगी।

7) महाराष्ट्र के जिलों अंदर प्राथमिक उपचार केंद्र खोले जाएंगे। महानगर पालिका, नगर परिषद और नगर पंचायतों में आधारभूत स्वास्थ्य सेवाओं का विस्तार किया जाएगा।

8) राज्य में स्वास्थ्य सेवाओं को उम्दा बनाने के लिए राज्य सरकार 7500 करोड़ रुपए खर्च करेगी। जिसके तहत नए मेडिकल कॉलेज भी बनाए जाएंगे।

9) राज्य में अल्पसंख्यक समाज के विकास के लिए 589 करोड़ रुपये खर्च किए जाएंगे।

10) महिलाओं को प्रॉपर्टी के स्टैम्प ड्यूटी रजिस्ट्रेशन में एक प्रतिशत की छूट दी जाएगी।

11) एपीएमसी को और भी बेहतर बनाने के लिए सरकार ने दो हजार करोड़ रुपए का प्रावधान किया है।

12) कृषि पंपों को सौर ऊर्जा से जोड़ने के लिए महावितरण को राज्य सरकार पंद्रह सौ करोड रुपए की आर्थिक मदद देगी।

13) जो आएगा वह बिकेगा योजना के लिए सरकार ने 21 सौ करोड़ रुपए का प्रावधान किया है।

14) महिलाओं के विकास के लिए सरकार ने 2247 करोड रुपए आवंटित किए हैं। जो केंद्र सरकार के बजट से 1398 करोड़ रुपए ज्यादा है। इसके अलावा घरेलू काम करने वाली महिलाओं के लिए संत जीजाबाई सामाजिक सुरक्षा योजना की शुरुआत की गई है।

15) बाल ठाकरे मेमोरियल के लिए सरकार ने 400 करोड रुपए का फंड आवंटित किया है

Source link