महाराष्ट्र: ‘लेटर बम’ के बाद अनिल देशमुख की कुर्सी पर खतरा…BJP का प्रदर्शन, पवार के घर अहम बैठक – maharashtra political crisis: parambir singh letter bomb, anil deshmukh, bjp protest, important meeting sharad pawar house

47

मुंबई
मुंबई के पूर्व पुलिस कम‍िश्‍नर परमबीर सिंह के गृह मंत्री अनिल देशमुख पर लगाए गए आरोपों के बाद महाराष्ट्र में सियासी तूफान खड़ा हो गया है। ऐसे में बीजेपी कार्यकर्ताओं ने रविवार को अलग-अलग शहरों में प्रदर्शन कर अनिल देशमुख का इस्तीफा मांगा। वहीं एनसीपी प्रमुख शरद पवार ने अपने घर में बड़ी बैठक की। इसके अलावा एनसीपी कार्यकर्ताओं ने नागपुर में यह कहते हुए प्रदर्शन किया कि परमबीर सिंह राज्य के गृह मंत्री को बदनाम कर रहे हैं।

दरअसल मुंबई पुलिस कमिश्नर पद से हटाए जाने के कुछ दिनों बाद परमबीर सिंह ने मुख्यमंत्री को पत्र लिखकर दावा किया कि एनसीपी के वरिष्ठ नेता देशमुख ने वाजे और अन्य पुलिस अधिकारियों से मुंबई के बार और होटलों से हर महीने 100 करोड़ रुपये वसूलने के लिए कहा था। देशमुख ने सिंह के आरोपों को निराधार बताकर खारिज कर दिया था और आईपीएस अधिकारी को खुद को जांच से बचाने का प्रयास करार दिया था।

चंद्रकांत पाटिल ने पुणे तो फडणवीस ने नागपुर में किया प्रदर्शन

राज्य बीजेपी के प्रमुख चंद्रकांत पाटिल ने पुणे में प्रदर्शन का नेतृत्व किया, वहीं विपक्ष के नेता देवेंद्र फडणवीस ने नागपुर में प्रदर्शनकारियों का नेतृत्व किया। मुंबई, पुणे, ठाणे, सांगली, सतारा, कोल्हापुर, नागपुर, अमरावती, जलगांव, अहमदनगर, नासिक, औरंगाबाद जैसे सभी जिला मुख्यालयों सहित 200 से अधिक स्थानों पर प्रदर्शन हुए। कई स्थानों पर बीजेपी कार्यकर्ताओं ने गिरफ्तारियां दीं। इन प्रदर्शनों में बीजेपी के विधायकों, वरिष्ठ पदाधिकारियों और कार्यकर्ताओं ने शिरकत की।

परमबीर के ‘लेटर बम’ से महाराष्‍ट्र में उबाल, अब क्या बोले राउत?

उद्धव सरकार के खिलाफ नारेबाजी
पुणे में प्रदर्शन का नेतृत्व करते हुए राज्य बीजेपी के प्रमुख चंद्रकांत पाटिल ने कहा कि शिवसेना नीत महा विकास आघाडी (एमवीए) सरकार को सत्ता में बने रहने का कोई नैतिक अधिकार नहीं है। नागपुर में राज्य के पूर्व ऊर्जा मंत्री चंद्रशेखर बावनकुले ने संविधान चौराहे पर प्रदर्शन का नेतृत्व किया, जहां राज्य सरकार के खिलाफ नारेबाजी की गई।

देशमुख के घर के बाहर बीजेपी का प्रदर्शन
शहर में देशमुख के आवास के बाहर बीजेपी युवा मोर्चा के कार्यकर्ताओं ने प्रदर्शन किए। पाटिल ने एक बयान में कहा कि एमवीए सरकार हमारे प्रिय महाराष्ट्र का ‘तमाशा’ बना रही है। गृह मंत्री के तुरंत पद छोड़ने की मांग करते हुए हमने कड़ा विरोध प्रदर्शन शुरू किया है। इस बीच, एनसीपी की नागपुर इकाई के अध्यक्ष अनिल अहीरकर ने कहा कि देशमुख के खिलाफ आरोप उन्हें बदनाम करने का प्रयास है।

BJP का आरोप- महाराष्ट्र में चल रहा है ‘ऑपरेशन लूट’, केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने पूछा- किसके दबाव में हुई वाजे की नियुक्ति?

दिल्ली में शरद पवार के घर बड़ी बैठक
उधर, दिल्ली में राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (NCP) के प्रमुख शरद पवार के घर पर एक बैठक हुई। इसमें पार्टी के नेता प्रफुल्ल पटेल, अजीत पवार, जयंत पाटिल और सुप्रिया सुले मौजूद रहे। इस बैठक में अनिल देशमुख के भविष्य का फैसला होने की संभावना जताई जा रही है। सूत्रों का कहना है कि गंभीर आरोपों में फंसे अनिल देशमुख को गृहमंत्री पद से हटाने को लेकर इस बैठक में विचार हो रहा है। शरद पवार इस बैठक में निर्णय लेकर मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे को अपनी राय से अवगत कराएंगे। सोमवार तक कोई बड़ा फैसला हो सकता है।

pjimage - 2021-03-21T204333.496

Source link