महाराष्ट्र कांग्रेस अध्यक्ष नाना पटोले: bjp should provide eveidence against Waze if they have:सचिन वझे के खिलाफ कोई सबूत है तो बीजेपी सामने लाये

42

हाइलाइट्स:

  • नाना पटोले नहीं लगाया बीजेपी पर बड़ा आरोप
  • पटोले ने कहा कि मुकेश अंबानी को सहानुभूति दिलवाने के लिए बीजेपी ने रची साजिश
  • बीजेपी ने जानबूझकर यह मुद्दा सदन में उठाया ताकि अंबानी के प्रति लोगों के मन में बसा गुस्सा कम हो सके
  • सचिन वझे के खिलाफ कोई सबूत है तो बीजेपी सामने लाये

मुंबई
मुकेश अंबानी (Mukesh Ambani Threat Case) के घर के पास स्कॉर्पियो में मिली जिलेटिन की छड़ों और धमकी भरे पत्र की जांच चल रही है। अब इस मुद्दे पर महाराष्ट्र प्रदेश अध्यक्ष नाना पटोले ने बयान देते हुए कहा है कि इस घटना मुकेश अंबानी को किसी भी प्रकार के खतरे का अंदेशा नहीं था। स्कार्पियो मुकेश अंबानी के घर से तकरीबन एक किलोमीटर दूर पार्क थी।

पटोले ने बताया कि मुकेश अंबानी के पास चार तरह की सुरक्षा का कवच है। उनके पास अंतरराष्ट्रीय, केंद्र सरकार , राज्य सरकार और खुद उनकी सिक्योरिटी है। ऐसे में उनको किसी प्रकार का खतरा होने की संभावना ना के बराबर है।

शेयर बाज़ार में दो से तीन लाख करोड़ का नुकसान
पटोले ने कहा कि मुकेश अंबानी को शेयर मार्केट में तकरीबन दो से तीन लाख करोड़ का नुकसान हुआ है और इसी वजह से बीजेपी अंबानी को सहानुभूति दिलाने के लिए यह मुद्दा उठाकर विधानसभा का समय बर्बाद कर रही है। यही नहीं बीजेपी किसान आंदोलन के मुद्दे से भी जनता का ध्यान भटका आना चाहती है। पटोले ने बीजेपी पर इन दोनों मामलों में साजिश रचने का आरोप लगाया है।

अंबानी के लिए बने कृषि कानून
नाना पटोले ने कहा कि कृषि कानूनों को मुकेश अंबानी के फायदे के लिए बनाया गया है। इस प्रकार की छवि किसानों और आम जनता के मन में बनी है और इस इस छवि को तोड़ने के लिए बीजेपी (BJP) ने इस मुद्दे को उठाया है। ताकि मुकेश अंबानी को जनता की सहानुभूति मिले। इस आंदोलन की वजह से मुकेश अंबानी के शेयर्स भी गिरे हैं। बीजेपी जानबूझकर प्रमुख मुद्दों को डायवर्ट करने की कोशिश कर रही है।

बीजेपी कुछ भी आरोप लगा सकती है
सचिन वझे (Sachin Waze) के मुद्दे पर नाना पटोले ने कहा कि बीजेपी किसी पर कुछ भी आरोप लगा सकती है। यदि बीजेपी के पास सचिन वझे के खिलाफ कोई ठोस सबूत है तो वह एटीएस को दें। मामले की जांच एटीएस पूरी निष्पक्षता के साथ करेगी।

Source link