मथुरा कृष्ण जन्मभूमि विवाद: विनय कटियार ने कही आंदोलन की बात तो इक़बाल अंसारी बोले- बंद हो मंदिर-मस्जिद की राजनीति | ayodhya – News in Hindi

46

विनय कतियाँ ने कही काशी मथुरा को मुक्त कराने की मांग

बीजेपी के पूर्व राज्यसभा सांसद विनय कटियार (Vinay Katiyar) ने कहा कि जिसने भी याचिका दायर की है उसने अच्छा काम किया है. अब इसे मुक्त कराने के लिए कोर्ट का रास्ता अख्तियार करना है या फिर बड़ा आंदोलन चलाना है इस पर निर्णय लेना होगा. उधर इस मामले में पर इकबाल अंसारी (Iqbal Ansari) ने कहा कि हिंदुस्तान के विकास के लिए मंदिर-मस्जिद की राजनीति खत्म होनी चाहिए.

अयोध्या. मथुरा (Mathura) के श्री कृष्ण जन्मभूमि (Shir Kirishna Janambhumi) के गर्भ गृह को लेकर दायर की गई याचिका पर बाबरी पक्षकार इकबाल अंसारी (Iqbal Ansari) और राम मंदिर आंदोलन से जुड़े हुए बीजेपी (BJP) के फायर ब्रांड नेता विनय कटियार (Vinay Katiyar) ने अपनी-अपनी प्रतिक्रिया दी है. बीजेपी के पूर्व राज्यसभा सांसद विनय कटियार ने कहा कि जिसने भी याचिका दायर की है उसने अच्छा काम किया है. अब इसे मुक्त कराने के लिए कोर्ट का रास्ता अख्तियार करना है या फिर बड़ा आंदोलन चलाना है इस पर निर्णय लेना होगा. उधर इस मामले में पर इकबाल अंसारी ने कहा कि हिंदुस्तान के विकास के लिए मंदिर-मस्जिद की राजनीति खत्म होनी चाहिए.

विनय कटियार ने बताया श्री कृष्ण विराजमान का दावा

विनय कटियार ने कहा कि श्री कृष्ण विराजमान के पक्ष में दाखिल याचिका एक सराहनीय कदम है, जहां कृष्ण का जन्म हुआ उस गर्भ गृह पर मस्जिद है. उसका रास्ता कृष्ण जन्मभूमि से होकर जाता है. जिस पर दूसरे संप्रदाय के लोगों ने बलपूर्वक कब्जा किया है. जिसे मुस्लिम पक्ष ईदगाह बोलता है वह हिंदुओं का है. विनय कटियार ने कहा कि बिना किसी आंदोलन के प्रशासन नहीं जगेगा. अभी अंदर के हिस्से की लड़ाई बाकी है. यहां पर लड़ाई लड़नी है. यह कब्जे की लड़ाई है. इस लड़ाई की रूपरेखा पर बोलते हुए विनय कटियार ने कहा कि अदालत से लड़ा जाए या आंदोलन चालू किया जाए, जो भी आवश्यकता होगी वह किया जाएगा. साथ ही विनय कटियार ने कहा कि इस पर व्यापक आंदोलन खड़ा करना चाहिए. इस आंदोलन में बीजेपी राजनीतिक पार्टी है, वह अपना काम करेगी. तमाम संगठन भी हैं जो काम करेंगे. विनय कटियार ने कहा कि हमारा पूर्व में भी दावा था कि तीन स्थानों को मुक्त कराना है. जिसमें अयोध्या, मथुरा और काशी शामिल था. अयोध्या पर विजय प्राप्त हो चुकी है और मंदिर निर्माण का कार्य शुरू हो चुका है, लेकिन मथुरा और काशी बाकी है. दोनों में से किसके लिए पहले लड़ाई है इस पर विचार विमर्श किया जाएगा.

इकबाल अंसारी ने कही ये बातवहीं बाबरी पक्षकार इकबाल अंसारी ने माना है कि यह हिंदू और मुस्लिम की राजनीति करने वाले लोग इस मामले को बढ़ा रहे हैं. बाबरी पक्षकार इकबाल अंसारी ने कहा कि हिंदू और मुसलमान का विवाद हम नहीं चाहते. इकबाल अंसारी ने कहा कि चंद लोग ऐसे हैं जो मंदिर और मस्जिद के विवाद को चलाते रहना चाहते हैं, जिससे कि उनकी रोजी-रोटी चलती रहे. इकबाल ने कहा कि जिस दिन हिंदू और मुसलमान का विवाद हमारे देश में नहीं रहेगा तो दुनिया में हिंदुस्तान का नाम शिखर पर होगा. बाबरी मस्जिद का मामला 50 साल कोर्ट में रहा. आज मथुरा और काशी की बात लोग करने लगे. यह लोग हिंदू और मुसलमान को आपस में लड़ाना चाहते हैं. इन लोगों को यह नहीं मालूम कि हिंदुस्तान की तरक्की यह लोग रोक रहे हैं. जात और धर्म की राजनीति करने वाले लोग कम से कम देश के बारे में भी सोचें. हिंदू और मुसलमान का विवाद खत्म करें सब को भगवान के पास जाना है.



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here