बीजेपी की राज्यपाल से मुलाकात: now maharashtra government leaders will have to wait for governor to meet:अब एमवीए के नेताओं को राज्यपाल से मुलाकात के लिए इंतजार करना होगा

84

हाइलाइट्स:

  • बीजेपी नेताओं के राज्यपाल से मुलाकात के बाद मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के नेतृत्व में एमवीए के नेता भी उनसे मुलाकात करने वाले थे
  • राजभवन से राज्य सरकार को यह बताया गया कि राज्यपाल फिलहाल मुलाकात के लिए उपलब्ध नहीं है
  • राज्यपाल भगतसिंह कोश्यारी 28 मार्च तक उत्तराखंड में रहेंगे
  • अब एमवीए के नेताओं को राज्यपाल से मुलाकात के लिए इंतजार करना होगा

मुंबई
परमबीर सिंह (Parambir Singh) के लेटर बम के बाद महाराष्ट्र में राजकीय समीकरण बड़ी तेजी से बदल रहे हैं। इस पूरी घटना में अब राज्यपाल (Maharashtra Governor) फिर से केंद्र बिंदु बनते हुए दिखाई पड़ रहे हैं। इसकी वजह यह है कि बुधवार को राज्यपाल महोदय ने बीजेपी नेताओं के शिष्टमंडल से मुलाकात की लेकिन महाविकास अघाड़ी सरकार के नेताओं को मुलाकात का समय नहीं दिया। महाराष्ट्र सरकार के नेताओं का अब राज्यपाल पर यह नया आरोप है।

आपको बता दें कि मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे (CM Uddhav Thackeray) के नेतृत्व में महा विकास अघाड़ी सरकार (Mahavikash Aghadi Government) का शिष्टमंडल गुरुवार को महामहिम राज्यपाल से मुलाकात कर सरकार का पक्ष रखना चाह रहा था। इसके लिए राज्यपाल से मुलाकात का समय मांगा गया था लेकिन राजभवन से राज्यपाल के उपलब्ध ना रहने की बात बताई गई। उनके 28 मार्च तक देहरादून में रहने की बात सामने आई है। ऐसे में सरकार के नेताओं को कुछ और वक्त तक राज्यपाल से मुलाकात के लिए इंतजार करना पड़ेगा। इस पूरे घटनाक्रम को देखते हुए एक बार फिर से महाराष्ट्र सरकार और राज्यपाल के विरुद्ध के बीच में जंग छेड़ने के आसार नजर आ रहे हैं।

बीजेपी नेताओं की राज्यपाल से मुलाकात
बुधवार को ही देवेंद्र फडणवीस (Devendra Fadnavis) के नेतृत्व में बीजेपी नेताओं ने राज्यपाल से मुलाकात की थी। तकरीबन एक घंटे तक यह मुलाकात राज्यपाल और बीजेपी नेताओं के बीच में चली थी। इस मीटिंग के दौरान बीजेपी ने राज्य में राष्ट्रपति शासन लगाने की चर्चा की या नहीं इस पर कोई आधिकारिक जानकारी सामने नहीं आई है। हालांकि इस मुलाकात के बाद महाविकास अघाड़ी सरकार के नेता भी सतर्क हो गए थे और उन्होंने भी गुरुवार को राज्यपाल से मुलाकात करने के लिए समय मांगा था। हालांकि अब यह मुलाकात कुछ दिनों बाद ही संभव होती हुई नजर आ रही है। ऐसे में इन 3 दिनों के अंदर महाराष्ट्र का सियासी तापमान और भी चढ़ने की संभावना जताई जा रही है।

राज्यपाल को नहीं दिया था हवाई जहाज
कुछ दिनों पहले राज्य सरकार ने महाराष्ट्र के राज्यपाल को उत्तराखंड जाने के लिए सरकारी प्लेन नहीं दिया था। जिसके बाद बीजेपी और महाराष्ट्र सरकार ने जमकर एक दूसरे के खिलाफ आरोप प्रत्यारोप किए थे। गवर्नर भगत सिंह कोश्यारी 11 फरवरी को उत्तराखंड जाने वाले थे। जिसके लिए वह सरकारी विमान का इस्तेमाल करने वाले थे। हालांकि ठाकरे सरकार ने आखिर तक विमान इस्तेमाल करने की मंजूरी नहीं दी थी। जिसके बाद निजी विमान से राज्यपाल उत्तराखंड गए थे।

Source link