बिहार बॉर्डर पर गाड़ी पर On Army Duty लिखकर तस्करी, 20 लाख की शराब के साथ 3 गिरफ्तार- Chandauli News Bihar Liquor smuggling Haryana up police On Army Duty Vehicle 3 arrested Army Intelligence liquor of 20 lakhs upas

108

चंदौली पुलिस ने 20 लाख की अंग्रेजी शराब पकड़ी है.

Chandauli News: उत्तर प्रदेश के चंदौली में पुलिस ने शराब तस्करी की बड़ी खेप पकड़ी है. ये तस्करी गाड़ी पर ऑन ड्यूटी आर्मी के स्टिकर लगाकर की जा रही थी. मामले में चंदौली पुलिस ने आर्मी इंटेलिजेंस को भी सूचना दे दी है.

चंदौली. उत्तर प्रदेश में शराब तस्करी (Liquor Smuggling) रोकने के लिए चलाये जा रहे अभियान के क्रम में चन्दौली पुलिस (Chandauli Police) को बड़ी सफलता मिली है. पुलिस ने डीसीएम व उसे स्कोर्ट कर रही कार से भारी मात्रा में शराब बरामद की है. साथ ही तस्करी के आरोप में पुलिस ने 3 युवकों को गिरफ्तार किया है. शराब की खेप हरियाणा (Haryana) से बिहार (Bihar) ले जाई जा रही थी. खास बात यह है कि ये लोग पुलिस से बचने के लिए ऑन आर्मी ड्यूटी स्टिकर लगाकर डीसीएम से शराब तस्करी कर रहे थे. वही डीसीएम को स्कोर्ट कर रही कार पर वीआईपी का स्टीकर लगा था. चन्दौली पुलिस ने मामले की सूचना मिलिट्री इंटेलिजेंस को दे दी है.

दरअसल पंचायत चुनाव और होली के मद्देनजर चन्दौली पुलिस लगातार चेकिंग अभियान चला रही है. इसी क्रम में सर्विलांस टीम और अलीनगर पुलिस ने मुखबिर की सूचना पर सिंघीताली नेशनल हाईवे -2 के समीप एक ON ARMY DUTY लिखी डीसीएम ट्रक और कार को पकड़ा. पूछताछ में तस्करों ने बताया कि यह आर्मी के घोड़ों के लिए पशु आहार है, जिसे वे बिहार ले जा रहे हैं. इस बाबत उन्होंने एक कूटरचित चालान रसीद भी दिखाई. लेकिन शक के आधार पर पुलिस ने जब इनकी जांच की तो उसमें 180 पेटी अंग्रेजी शराब रखी मिली. इसके अलावा उनकी निशानदेही पर एक अन्य कार से 10 पेटी शराब बरामद हुई.

हरियाणा से पटना हो रही थी तस्करी

पुलिस तीनों तस्करों अशोक जाट, मिंटू गुर्जर, विकास शर्मा को थाने ले आई. पुलिस की पूछताछ में उन्होंने बताया कि यह वे शराब की खेप हरियाणा से बिहार के पटना ले जा रहे है. 190 पेटियों में करीब 20 हजार लीटर शराब है. जो हरियाणा निर्मित अंग्रेजी शराब है. जिसकी कीमत करीब 20 लाख रुपये है. बिहार में तीन गुने कीमत पर बेची जाती.आर्मी इंटेलिजेंस को दी गई सूचना

मामले की गंभीरता को देखते हुए चन्दौली पुलिस ने आर्मी इंटेलिजेन्स को सूचना दे दी है. क्योंकि आर्मी से जुड़े जो कागजात बरामद हुए, वो असली की तरह हैं. ऐसे में यह कागजात उनके हाथ कैसे लगे? यह जांच का विषय है.






Source link