बाबरी मस्जिद विध्वंस मामले: बाबरी फैसले पर कोई खुश, कोई नाखुश – someone happy, someone unhappy over the babri decision

37
बाबरी मस्जिद गिराए जाने के मामले में बुधवार को आए सीबीआई कोर्ट के फैसले को लेकर मुंबई के राजनीतिक हलकों में अलग-अलग प्रतिक्रियाएं व्यक्त की गईं। शिवसेना ने जहां इस फैसले का स्वागत किया, वहीं दूसरी तरफ कांग्रेस और अन्य पार्टियों ने इस फैसले पर नाखुशी जाहिर की। सीबीआई कोर्ट का फैसला आते ही भाजपा कार्यालय में जश्न मनाया गया और मिठाइयां बांटी गईं।

शिवसेना के सांसद संजय राउत ने मीडिया से बात करते हुए कहा ‘मैं और मेरी पार्टी शिवसेना, कोर्ट के फैसले का स्वागत करते हैं और आडवाणी जी, मुरली मनोहर जोशी और उमा भारती समेत उन लोगों को बधाई देते हैं, जो बरी हुए हैं।’ बाबरी मस्जिद विध्वंस मामले के आरोपी एवं शिवसेना के पूर्व सांसद सतीश प्रधान ने भी इस फैसले का स्वागत किया। 80 वर्षीय प्रधान ने कहा कि सच्चाई की जीत हुई है।

दूसरी तरह कांग्रेस के पूर्व सांसद हुसैन दलवाई ने कहा कि सीबीआई कोर्ट का फैसला निराशाजनक और वस्तुस्थिति के अनुरूप नहीं है। इस फैसले से राष्ट्र की न्याय व्यवस्था पर जनता का विश्वास कम होगा। उन्होंने कहा कि बाबरी मस्जिद गिराने के लिए भाजपा और संघ परिवार ने एक सुनियोजित राष्ट्रव्यापी मुहिम चलाई थी। रथ यात्रा निकाली गई दंगे कराए गए।

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here