फरार बीजेपी नेता रघुवीर तिवारी पर बड़ी कार्रवाई, करोड़ों की संपत्ति जब्त

47

इटावा पुलिस को बुलाकीपुर लुहन्ना में अपहरण कर हत्या के मामले में हिस्ट्रीशीटर रघुवीर तिवारी की तलाश है.

फरार चल रहे भाजपा नेता रघुवीर तिवारी समेत तीनों भाइयों पर जनपद में साठ से अधिक आपराधिक मुकदमें पंजीकृत हैं. जिलाधिकारी श्रुति सिंह के निर्देश पर एसपी सिटी प्रशांत कुमार और सीओ सिटी समेत प्रशासन की टीम ने इलाके में डुगडुगी बजाकर लोगों को माइक पर बताते हुए उक्त सम्पत्तियों को सीज किया.

इटावा. उत्तरप्रदेश के इटावा जिले के सिविल लाइन इलाके के बुलाकीपुर लुहन्ना में अपहरण कर हत्या के मामले में फरार चल रहे बीजेपी नेता समेत तीन भाइयों की बारह करोड़ से अधिक की बेनामी संपत्ति प्रशासन ने जब्त कर ली. फरार चल रहे भाजपा नेता रघुवीर तिवारी समेत तीनों भाइयों पर जनपद में साठ से अधिक आपराधिक मुकदमें पंजीकृत हैं. जिलाधिकारी श्रुति सिंह के निर्देश पर प्रशासन और पुलिस ने बड़ी कार्रवाई को अंजाम दिया गया. वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक डॉ. बृजेश कुमार सिंह ने बताया कि एक वर्ष पूर्व थाना लवेदी में दर्ज हुए अपहरण कर हत्या कर देने के मामले में आरोपी रघुवीर तिवारी और उसके दो भाई रामवीर और श्यामवीर तिवारी फरार चल रहे थे.

पिछले दिनों छोटे भाई श्यामवीर तिवारी को पुलिस ने गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है लेकिन मुख्य आरोपी रघुवीर और रामवीर तिवारी फरार चल रहे हैं. पुलिस की उन्हें गिरफ्तार करने के लिए लगातार दबिशें दी जा रही हैं. इसी क्रम में जिलाधिकारी के निर्देश पर तीनों भाइयों की थाना सिविल लाइन क्षेत्र के अंतर्गत बुलाकीपुर लुहन्ना क्षेत्र में अलग-अलग स्थानों पर बनाई गई 12 करोड़ से अधिक की चल और अचल संपत्ति को सीज कर जब्त किया गया है.

जिलाधिकारी श्रुति सिंह के निर्देश पर एसपी सिटी प्रशांत कुमार और सीओ सिटी समेत प्रशासन की टीम ने इलाके में डुगडुगी बजाकर लोगों को माइक पर बताते हुए उक्त सम्पत्तियों को सीज किया. जब्त की गई संपत्ति में यह माना गया है कि इस संपत्ति को गैरकानूनी ढंग से अर्जित की गई है. जब्त संपत्ति मे रिहायशी आवास के अलावा जूस बनाने की फैक्टी, कॉरपोरेट ऑफिस और एक निर्माणाधीन होटल का सीज कर दिया गया है. रघुवीर तिवारी और उसके भाईयों के कारनामे ऐसे हैं जिनको सुनने के बाद आपकी रूह कंप जाएगी.

भाजपा के कोषाध्यक्ष रहते हुए रघुवीर तिवारी ने दंबगई का परिचय देते हुए इटावा मे वनकर्मी अंगद सिंह की करीब दो बीघा जमीन पर कब्जा कर लिया. विरोध करने पर भाजपा नेता ने अपने भाई रामवीर, श्यामवीर के साथ मिलकर विगत 26 जुलाई 2016 उसके पिता को अगवा कर पेड़ में बांधकर बुरी तरह लाठी-डंडों से पीटा. पुलिस से शिकायत करने पर कोई कार्रवाई नहीं हुई. इस पर एसएसपी से न्याय की गुहार लगाई तो पुलिस ने तीनों भाईयों पर केस तो दर्ज किया. रघुवीर तिवारी के विरुद्ध कई थानों में करीब 3 दर्जन हत्या, लूट, जमीनों पर कब्जे हथियारों की तस्करी और अपहरण जैसे संगीन मुकदमें दर्ज हैं.







Source link