पौंधे से प्राप्त फूड के सेवन से दिल की सेहत पर होता है बेहतर असर- रिसर्च New Study by American Heart Association Found That Eating more plant foods may lower heart disease risk in adults– News18 Hindi

19

Study On Plant Based Diet: भागदौड़ भरी जिंदगी का सबसे बड़ा दुष्परिणाम है लाइफस्टाइल (Lifestyle) से संबंधित कई बीमारियों का होना. आज के दौर में सबसे ज्यादा लोग दिल की सेहत से परेशान रहते हैं. विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) के मुताबिक दुनिया भर में 1.13 अरब लोग हाइपरटेंशन (Hypertension) के शिकार हैं. इनमें से दो तिहाई लोग गरीब और मध्यम आय वाले देशों में रहते हैं यानी गरीब देशों में दिल की सेहत का बुरा हाल है. लाइफस्टाइल सही कर लाइफस्टाइल से संबंधित बीमारियों से बचा जा सकता है. एक नए अध्ययन में इस बात पर जोर दिया गया है. जर्नल ऑफ अमेरिकन हार्ट एसोसिएशन (Journal of the American Heart Association) में प्रकाशित एक रिपोर्ट में कहा गया है कि पौधे आधारित आहार (Plant based foods) के सेवन से दिल की सेहत अच्छी रहती है.

30 साल तक किया गया अध्ययन
लगभग 30 साल तक लंबे चले इस अध्ययन के परिणामों का विश्लेषण करने के बाद यह निष्कर्ष निकाला गया है कि अगर शुरुआती उम्र में पौधा आधारित डाइट (plant-centered diet ) को भोजन में शामिल किया जाए तो आगे की उम्र में दिल से संबंधित बीमारियों का जोखिम बहुत कम हो जाता है. एक अन्य अध्ययन में भी यह बात साबित हुई है कि पौंधा आधारित फूड से शरीर में कोलेस्ट्रॉल (Cholesterol) का स्तर बहुत कम हो जाता है. इसे पोर्टफोलियो डाइट (Portfolio Diet) से जोड़कर देखा जा रहा है. इससे महिलाओं में मीनोपॉज (Menopause) के बाद दिल की बीमारी का खतरा न के बराबर रहता है.

यह भी पढ़ें- वॉकिंग मेडिटेशन से दूर होता है डिप्रेशन, मिलते हैं कई फायदे

इन चीजों को डाइट में शामिल करने की सलाह
अमेरिकन हार्ट एसोसिएशन (The American Heart Association ) ने लोगों के ओवरऑल स्वास्थ्य के लिए हेल्दी डाइट लेने की सलाह दी है. इसमें कई तरह की फल और सब्जियां, साबुत अनाज, लो फैट डेयरी प्रोडक्ट, स्किनलेस पॉल्ट्री और फिश, बादाम आदि शामिल हैं. इसके अलावा फूड में शुगर, नमक, सैचुरेटेड फैट, ट्रांस फैट, रेड मीट, मिठाई आदि को सीमित करने की भी सलाह दी गई है. इस अध्ययन के प्रमुख लेखक और मिनिसोटा यूनिवर्सिटी (University of Minnesota ) के यूनि चोई (Yuni Choi) ने बताया कि पहले के अध्ययन में किसी एक खास फूड पर फोकस किया जाता था. इससे वास्तविक तस्वीर सामने नहीं आती थी. इस बार इस अध्ययन में 30 साल के डाटा को खंगाला गया और उनकी पूरे डाइट प्लान का आकलन किया गया.

यह भी पढ़ें- न महसूस हो रही हो गंध और स्वाद, तो अपनाएं ये घरेलू उपाय

शिक्षित व्यक्तियों में हेल्दी फूड लेने की प्रवृति
इस अध्ययन में 4946 वयस्कों को शामिल किया गया. इनकी डाइट प्लान पर 1985-86 से नजर रखी गई. 2015-16 तक इनके बारे में सभी जानकारी जुटाई गई. इन लोगों के अक्सर लैब टेस्ट किए गए, मेडिकल हिस्ट्री देखी गई, माप लिए गए और लाइफस्टाइल पर बारीकी से गौर किया गया. अध्ययन में शामिल लोगों को पहले से खान-पान के बारे में कुछ नहीं बताया गया. अध्ययन के विश्लेषण में पाया गया कि जिन लोगों ने शुरुआत से ही पोषक तत्वों से भरपूर पौंधा आधारित डाइट को अपने फूड में शामिल किया, उन्हें दिल से संबंधित बीमारियां नहीं हुई. ऐसे लोगों में शिक्षा का स्तर अन्य लोगों की तुलना में ज्यादा था. वहीं दूसरी ओर गलत खान-पान वाले व्यक्ति में हार्ट अटैक, हार्ट स्ट्रोक, हार्ट फेल्योर, चेस्ट पेन आदि की शिकायतें अक्सर आती रही.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

Source link