दिल्ली में ऑक्सीजन कंसंट्रेटर की बड़ी रिकवरी, लंदन तक जुड़ रहे कालाबाजारी गिरोह के तार Major recovery of oxygen concentrator in Delhi, blackbusiness gangs connecting up to London

17

राजधानी दिल्ली में ऑक्सीजन कंसंट्रेटर की बड़ी रिकवरी के साथ कालाबाजारी के मामले का खुलासा हुआ है. लोधी कॉलोनी के रेस्तरां से ऑक्सीजन कंसंट्रेटर की बड़ी बरामदगी हुई है.

दिल्ली से लंदन तक फैला जाल, बड़ी संख्या में ऑक्सीजन कंसंट्रेटर बरामद (Photo Credit: फाइल फोटो)

highlights

  • दिल्ली में ऑक्सीजन कंसंट्रेटर की बड़ी रिकवरी
  • लोधी कॉलोनी से 524 ऑक्सीजन कंसंट्रेटर बरामद
  • लंदन तक जुड़ रहे कालाबाजारी गिरोह के तार

नई दिल्ली:

राजधानी दिल्ली और आस पास से सटे इलाकों में जिस तरह कोरोना के मामलों में बढ़ोतरी हुई है, उसी तरह कोरोना को मात देने वाली दवाइयों और ऑक्सीजन की कालाबाजारी भी बढ़ गई है. कालाबाजारी करने वालों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई भी लगातार की जा रही है. इसी बीच राजधानी में ऑक्सीजन कंसंट्रेटर की बड़ी रिकवरी के साथ कालाबाजारी के मामले का खुलासा हुआ है. लोधी कॉलोनी के रेस्तरां से ऑक्सीजन कंसंट्रेटर की बड़ी बरामदगी हुई है. कालाबाजारी के इस पूरे खेल का पर्दाफाश करते हुए अभी तक पुलिस ने 4 लोगों को गिरफ्तार कर लिया है. साथ ही 524 कॉन्स्ट्रेटर जब्त कर लिए हैं. फिलहाल आगे की कार्रवाई चल रही है.

यह भी पढ़ें : गुजरात में पिता की कोरोना से मौत के बाद पूरे परिवार ने की आत्महत्या 

लोधी कॉलोनी से 524 ऑक्सीजन कंसंट्रेटर पकड़े गए

जानकारी के अनुसार, दिल्ली की लोधी कॉलोनी से 524 ऑक्सीजन कंसंट्रेटर पकड़े गए. इस कालाबाजारी के खेल में एक मैट्रिक्स सेल्यूलर सर्विस लिमिटेड कंपनी का नाम सामने आया है. बताया जाता है कि मैट्रिक्स सेल्यूलर सर्विस लिमिटेड ने ही ऑक्सीजन कंसंट्रेटर इंपोर्ट किए थे. ऑक्सीजन कंसंट्रेटर 20 हजार रुपये प्रति पीस के हिसाब से भारत में इंपोर्ट किए गए थे. लेकिन 50 हजार, 60 हजार और अधिकतम 70 हजार रुपये के रेट पर जरूरतमंद और परेशान लोग लाइन लगाकर इन ऑक्सीजन कंसंट्रेटर को खरीद रहे थे.

देखें : न्यूज नेशन LIVE TV

कालाबाजारी का जाल दिल्ली की लोधी कॉलोनी से लंदन तक फैला

इस पूरे मामले में सबसे बड़ा खुलासा यह हुआ है कि कालाबाजारी गिरोह का जाल दिल्ली की लोधी कॉलोनी से लंदन तक फैला था. मामले के तार अब बड़े बड़े लोगों से जुड़ने लगे हैं. इस मामले में एक कारोबारी गगन दुग्गल का नाम आया है, जो लंदन में रहता है. बताया जाता है कि रेस्तरां के माध्यम से ऑक्सीजन कंसंट्रेटर बेचने वाले नवनीत कालरा का पार्टनर गगन दुग्गन ही है. इतना ही नहीं, मैट्रिक्स कंपनी का मालिक भी गगन दुग्गन है. गुरुवार को पुलिस ने गगन दुग्गल के छतरपुर में स्थित मंडी विलेज के खुल्लर फार्म हाउस से 387 ऑक्सीजन कंसंट्रेटर बरामद किए थे.

यह भी पढ़ें : LIVE: कोरोना संकट के बीच PM नरेंद्र मोदी आज यूरोपीय परिषद की बैठक में भाग लेंगे

ऑनलाइन लग रही थी ऑक्सीजन कंसंट्रेटर की बोली

ऑक्सीजन कंसंट्रेटर की बड़ी रिकवरी के साथ कालाबाजारी के मामले का खुलासा करने के बाद पुलिस ने आगे की तफ्तीश के चलते मैट्रिक्स सेल्यूलर सर्विस लिमिटेड के सीईओ गौरव खन्ना को भी गिरफ्तार किया है. गौरव खन्ना को गुरुग्राम से गिरफ्तार किया गया, जिसका संबंध नवनीत कालरा से भी था. इसके अलावा 3 और लोगों को भी गिरफ्तार किया गया है. यहां यह भी पता चला है कि नवनीत कालरा ऑनलाइन और व्हॉट्सएप के जरिए ऑक्सीजन कंसंट्रेटर की बोली लगाता था और उन्हें ऊंची कीमत पर बेचता था.



संबंधित लेख

First Published : 08 May 2021, 07:38:44 AM

For all the Latest Crime News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.


Source link