दलित महिला ने लगाया मंदिर में पूजा से रोकने का आरोप, पुलिस ने कहा- झूठ बोल रही है

16

झांसी. उत्तर मध्य रेलवे के झांसी-कानपुर रेलमार्ग (Jhansi-Kanpur Rail Root) पर इन दिनों बदमाश एक के बाद एक कई ट्रेनों में लूटपाट (Loot) कर रहे हैं. अब उरई सरसौखी के बाद बदमाशों ने मंगलवार को पुष्पक एक्सप्रेस (Pushpak Express) में लूटपाट की. यात्रियों ने भोपाल पहुंचकर इसकी शिकायत दर्ज कराई .

इसके पहले मंगलवार को लखनऊ से झांसी की ओर आ रही पुष्पक एक्सप्रेस. में लुटेरों ने लूटपाट की थी. बदमाशों ने पारीछा होम सिग्नल पर गीली मिट्टी से लिपटा कपड़ा बांधकर ग्रीन सिग्नल छुपा दिया था. . सिग्नल न मिलने के कारण चालक ने ट्रेन रोक दी थी . बदमाशों ने स्लीपर व जनरल कोचों की खिड़कियां से हाथ डालकर यात्रियों का कीमती सामन लूटना शुरू कर दिया. इससे यात्रियों में चीख-पुकार मच गई.

आरोप- आरपीएफ, जीआरपी पर वारदात को छुपाने का आरोप
बदमाशों ने कोच एस-9 की बर्थ नम्बर 12 पर सफर कर रही महिला यात्री माधुरी चौधरी के कान का झुमका छीन लिया. कई यात्रियों का सामान लूट लिया गया. शोर होने पर बदमाश मौके से भाग गए. इधर चालक की सूचना पर पारीछा स्टॉफ मौके पर पहुंचा और सिग्नल सुधारने के बाद ट्रेन को आगे रवाना कर दिया.

आरोप है कि ट्रेन जब झांसी रेलवे स्टेशन पहुंची तो आरपीएफ और जीआरपी ने इस घटना को दबाने का प्रयास करना शुरू कर दिया. लेकिन पीड़ित यात्री नहीं माने और उन्होंने भोपाल जाकर इसकी शिकायत दर्ज कराई. और तब यह वारदात उजागर हुई .

इससे पहले इंदौर-पटना एक्सप्रेस में हुई थी लूटपाट
इससे पहले बदमाशों ने उरई के सरसौखी के बाद इंदौर-पटना एक्सप्रेस में लूटपाट की थी . पुष्पक एक्सप्रेस में जीआरपी का स्क्वॉट चलता है, सवाल यह है कि जिस समय वारदात हुई उस समय जीआरपी कहां थी? उसने यात्रियों की मदद क्यों नहीं की?

Source link