जानिए माउथवॉश के फायदे-नुकसान और इसके इस्तेमाल का सही तरीका

74
मुंह की सफाई और सांसों को ताज़ा रखने के लिए कुछ लोग माउथवॉश (Mouthwash) का सहारा लेते हैं. लेकिन क्या आप जानते हैं की माउथवॉश के इस्तेमाल के और क्या फायदे (Benefits) हैं, या ये आपको किस तरह से नुकसान (Harm) पहुंचा सकता है और इसके इस्तेमाल का सही तरीका क्या है? आइये आपको माउथवॉश के फायदे और नुकसान के बारे में यहां बताते हैं और इसके इस्तेमाल का सही तरीका क्या है इस बारे में भी जानकारी देते हैं. माउथवॉश के इस्तेमाल के ये हैं फायदे-

कैविटीज़ को बढ़ने से रोकता है

माउथवॉश का इस्तेमाल करने से आपके दांतों में कैविटीज़ होने की सम्भावना कम होती है. साथ ही पहले से मौजूद कैविटीज़ को बढ़ने से रोकने में भी ये सहायता करता है.

प्लाक को बनने से रोकता हैमाउथवॉश का इस्तेमाल मसूड़ों और दांतों में जमने वाले प्लाक को बनने से रोकने में सहायक है.

मुंह के छालों को दूर करता है

माउथवॉश का रोज़ाना इस्तेमाल करने से मुंह के छालों को दूर करने में मदद मिलती है.

बैक्टीरिया को ख़त्म करता है

माउथवॉश के इस्तेमाल से मुंह में मौजूद बैक्टीरिया ख़त्म होते हैं. इसके साथ ही ये मुंह में बनने वाले सभी ढीले कणों को भी साफ़ करने में मदद करता है.

मुंह की दुर्गन्ध दूर करता है

मुंह की दुर्गन्ध को दूर करने में माउथवॉश ख़ास भूमिका निभाता है. इसके इस्तेमाल से मुंह की दुर्गन्ध दूर होने के साथ ही सांसो की ताजगी भी बढ़ती है.

ये भी पढ़ें: दांतों के दर्द से न हों परेशान, ये आसान उपाय दिलाएंगे राहत

माउथवॉश के इस्तेमाल से ये हो सकते हैं नुकसान

माउथवॉश के इस्तेमाल से किसी-किसी को मुंह का स्वाद खराब रहने की दिक्कत हो सकती है.

माउथवॉश के इस्तेमाल से किसी-किसी को एलर्जी होने का खतरा भी रहता है.

इसके इस्तेमाल से मुंह में अल्सर होने और मुंह में लाली आ जाने की समस्या भी हो सकती है.

माउथवॉश के इस्तेमाल से दांतों में धब्बे होने की शिकायत हो सकती है.

इसके इस्तेमाल से मुंह में सूखेपन (मुंह सूखना) की परेशानी भी हो सकती है.

ये भी पढ़ें: दांतों के पीलेपन को दूर करने के लिए जरूर खाएं ये फल

 ये है माउथवॉश को सही तरह से इस्तेमाल करने का तरीका

माउथवॉश इस्तेमाल करने से पहले दांतों को अच्छी तरह से ब्रश करें.

फ्लोराइड युक्त टूथपेस्ट इस्तेमाल करने की स्थिति में ब्रश करने के तुरंत बाद माउथवॉश का इस्तेमाल न करें.

इसको बॉटल से सीधा मुंह में न डालें बल्कि मेजरिंग कप का इस्तेमाल करें.

माउथवॉश से कुल्ला करने के साथ ही इससे गरारे भी करें, लेकिन ध्यान रहे कि इसको निगलना नहीं है. (Disclaimer: इस लेख में दी गई जानकारियां और सूचनाएं सामान्य मान्यताओं पर आधारित हैं. Hindi news18 इनकी पुष्टि नहीं करता है. इन पर अमल करने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से संपर्क करें.)



Source link