जब रोते हुए एक बेटी ने स्मृति ईरानी से कहा- डॉ राम मनोहर लोहिया इंस्टीट्यूट में मेरी मां से हुआ रेप-amethi news when a girl told smriti irani that her mother was raped at lucknow rml institute upat

185

अमेठी पहुंची स्मृति ईरानी से युवती ने बताई मां के साथ हुई हैवानियत की दास्ताँ

Smriti Irani in Amethi: डीएम अरुण कुमार ने बताया कि युवती के आरोप बेहद गंभीर हैं. पूरे मामले की जांच के लिए गौरीगंज उपजिलाधिकारी व क्षेत्राधिकारी गौरीगंज और एसीएमओ की जांच कमेटी गठित की गई है.

अमेठी. लखनऊ (Lucknow) के डॉ राम मनोहर लोहिया इंस्टिट्यूट (RML Institute) के स्टाफ पर एक महिला से रेप व मारपीट का आरोप लगा है. शहर के एक वार्ड निवासी युवती ने अपनी 40 वर्षीय मां के साथ लखनऊ के डॉ. राम मनोहर लोहिया इंस्टीटयूट के स्टाफ पर रेप करने का आरोप लगाया है. पुलिस (Police) द्वारा फरियाद न सुने जाने पर उसने अपनी आपबीती जिले के दौरे पर आईं केंन्द्रीय वस्त्र एवं महिला और बाल कल्याण मंत्री स्मृति ईरानी (Smiriti Irani) को सुनाई. स्मृति ईरानी के निर्देश पर डीएम ने जांच टीम गठित कर रिपोर्ट तलब की है.

शहर के एक वार्ड निवासी महिला को पिछले 6 तारीख को तबीयत खराब होने पर संयुक्त जिला अस्पताल गौरीगंज में भर्ती कराया गया था. महिला की पुत्री ने बताया कि हालत गंभीर होने पर चिकित्सकों ने उसकी मां को डॉ. राम मनोहर लोहिया इंस्टीटयूट रेफर कर दिया। पुत्री का आरोप है कि वहां 7 तारीख को उसकी मां को पहले इमरजेंसी व बाद में चौथी मंजिल के बेड संख्या 41 पर भर्ती कर दिया गया. इसके बाद परिवारीजनों को बाहर भेज दिया गया. किसी को मिलने नहीं दिया जाता था. बहुत निवेदन करने पर जब दो दिन बाद वह अपनी मां से मिली तो उसकी हालत नाजुक थी. मिलने पर उसकी मां ने चिकित्सकों व स्टाफ द्वारा उसे मारने-पीटने के साथ कुछ गलत किए जाने की बात कही. इसके बाद बेहोशी की हालत में शुक्रवार रात वहां से डिस्चार्ज कराकर फिर से जिला अस्पताल गौरीगंज में भर्ती कराया गया.

शनिवार को अचानक जिला मुख्यालय पहुंचीं केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी से युवती ने कहा कि मां को भर्ती कराने के बाद जब परिवारीजन सुबह केस दर्ज कराने स्थानीय थाने पहुंचे तो पुलिस ने टरका दिया. युवती की बात सुनने के बाद स्मृति ईरानी ने डीएम, एसपी व सीएमओ से वार्ता कर मामले में कार्रवाई सुनिश्चित करने का निर्देश दिया.

गठित की गई जांच कमेटी: डीएमडीएम अरुण कुमार ने बताया कि युवती के आरोप बेहद गंभीर हैं. पूरे मामले की जांच के लिए गौरीगंज उपजिलाधिकारी व क्षेत्राधिकारी गौरीगंज और एसीएमओ की जांच कमेटी गठित की गई है. महिला में ब्लैक फंगस के लक्षण बताए जा रहे हैं. इसका इलाज मेडिकल कालेज में ही उपलब्ध है. जांच कमेटी की रिपोर्ट के बाद कार्रवाई होगी.

पीड़िता का कराया जाएगा मेडिकल: एसपी

अमेठी पुलिस अधीक्षक दिनेश सिंह ने कहा कि महिला का मेडिकल कराने का निर्देश दिया गया है. मेडिकल के बाद इंस्पेक्टर महिला थाना पीड़िता का बयान लेंगी. मेडिकल रिपोर्ट व बयान को लखनऊ प्रशासन को संदर्भित किया जाएगा.







Source link