क्‍या ओवैसी की एमआईएम के साथ गठबंधन करेगी सपा? जानें क्‍या था अख‍िलेश यादव का जवाब

52
लखनऊ. समाजवादी पार्टी के मुख‍िया अखिलेश यादव ने व‍िधानसभा चुनावों को लेकर एक बार फिर साफ कर दिया की उनकी पार्टी बड़े दलों से कोई गठबंधन नहीं करने जा रही है. वह सिर्फ छोटे दलों के साथ गठबंधन करेंगे. जब अखिलेश यादव से असदुद्दीन ओवैसी की पार्टी एमआईएम से गठबंधन का सवाल पूछा गया तो उन्‍होंने कहा क‍ि एक जो हमारे रास्ते है एक सेक्युलर, सोसलिस्ट समाज बने, उसे बनाने के लिये सपा तय करेगी किसे साथ लेना है किसे नही लेना है. जो भी दल बीजेपी से मिले होंगे उनसे दूरी बनाने का काम सपा करेगी.

उन्‍होंने कहा क‍ि सपा का बड़े दलों के साथ अच्छा अनुभव नहीं रहा, इसलिए बड़े दलों से गठबंधन नहीं करेंगे और सिर्फ छोटे दलों से गठबंधन करेंगे. सभी छोटे दलों के लिए रास्ता खुला हुआ है, जो आना चाहे आ जाए. उन्‍होंने कहा क‍ि पुलिस के जर‍िए यूपी सरकार यहां पर व‍िपक्षी दलों के खिलाफ षडयंत्र कर रही है. आजम खान साहब के ऊपर देखिये कितने केस कर दिए गए है. जब अखिलेश से पूछा गया क‍ि आजम खान साहब के लिए कोई बात हुई है आपकी. तो उन्‍होंने कहा क‍ि अगर हुई भी होगी तो आपको क्या बताएंगे? उनसे पूछा गया क‍ि पीएम मोदी जी से आपके बड़े अच्छे संबंध है, तो क्या आजम खान को लेकर कोई बात हुई है क्‍या आपकी? तो उन्‍होंने कहा क‍ि आपको मैं जवाब दे चुका हूं.

अख‍िलेश यादव ने यूपी सरकार पर क‍िए ये वार
– सोशल मीडिया में काफी चल रहा मुख्यमंत्री ने सेल्फी ली है, वो सपा का काम है. ये दूसरों के काम को अपना बना लेने वाली सेल्फी लेने वाली सरकार है.- इस सरकार को जनता हटा देगी

– नोटबंदी के बाद अभी तक अर्थव्यवस्था नहीं सुधरी है और नोटबंदी के बाद जीएसटी आ गया.
– इधर, वैश्‍व‍िक महामारी की वजह से इतने खराब दिन देखने पड़े और सरकार ने जो लॉकडाउन लगाया उसमें कारोबार डूब गए.
– सरकार के फैसले ऐसे है कि अर्थव्यवस्था खत्म हो गई है.
– 5 लाख करोड़ के एमओयू किए गए पर वो जमीन पर नही पहुंचे.
– डि‍फेंस कोरिडोर के नाम पर काफी हल्ला हुआ पर कोरिडोर के लिये कुछ काम नहीं हुआ.
– इधर तीन किसान बिल आए इससे खेती पूरी तरह बर्बाद हो जाएगी.

– जहां मंडी बननी चाहिए थी वहां मंडी बनाने का काम बंद कर दिया गया.
– कृषि कानून डेथ वारंट है किसानों के लिए
– इधर पेट्रोल डीजल के दाम बढ़ रहे है, सरकार बताए यह मुनाफा कहां जा रहा है.
– मुख्यमंत्री लैपटॉप बांटने का वादा किया था पर नहीं बांटा क्योंकि योगी को लैपटॉप चलाना नहीं आता.
– एंबुलेंस डीजल पेट्रोल नहीं होने के कारण चल नहीं पा रही है.
– अगर अगर लखनऊ से जाए तो जाते वक्त कुछ और नाम हो और आते वक्त हो सकता है आपका नाम बदल दे सरकार.
– ये नाम बदलने वाली सरकार है और अब तो सेल्फी लेनी वाली भी बन गई है.
– बीजेपी की सारी चाले जनता समझ गयी है.



Source link