कोरोना के बावजूद यूपी में बढ़ा FDI, पीएम मोदी ने इन शब्दों में की CM योगी आदित्यनाथ की तारीफ

19

नई दिल्ली. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को यह कहते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की सराहना की कि उत्तर प्रदेश ने पिछले चार वर्ष में निवेश बढ़ाने और व्यवसाय की सुगमता को बेहतर बनाने में उल्लेखनीय प्रयास किए हैं. प्रधानमंत्री ने योगी आदित्यनाथ के एक ट्वीट में यह बात कही जिसमें उन्होंने कहा था कि कोरोना महामारी के बावजूद उत्तर प्रदेश में प्रत्यक्ष विदेशी निवेश(एफडीआई) बढ़ा है.

मुख्यमंत्री ने एक मीडिया रिपोर्ट में किए गए दावे का हवाला देते हुए यह बात कही. साथ ही उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी रक्षा गलियारे के ‘अलीगढ़ नोड’ की नींव रखेंगे. प्रधानमंत्री ने मुख्यमंत्री के ट्वीट पर अपनी प्रतिक्रिया देते हुए कहा, ‘उत्तर प्रदेश ने पिछले चार वर्षों के दौरान निवेश बढ़ाने और व्यवसाय की सुगमता को सुधारने में उल्लेखनीय प्रयास किए हैं. गौर करने वाली बात यह है कि छोटे शहर और ग्रामीण इलाके भी इन उपलब्धियों के साक्षी बन रहे हैं.’

UP News: मुनव्वर राणा मामले में बोले केशव प्रसाद मौर्य- जो अपराधी होते हैं, वही आरोप लगाते हैं

गौरतलब है कि उत्तर प्रदेश को कोविड-19 महामारी के दौरान अलग-अलग कंपनियों से 17,000 करोड़ रुपये से अधिक के विदेशी निवेश प्रस्ताव हुए हैं. अधिकारियों ने कहा कि राज्य सरकार को घरेलू और विदेशी कंपनियों से अप्रैल, 2020 से लेकर अबतक करीब 66 हजार करोड़ रुपये के निवेश के कुल 96 आशय-पत्र मिले है.

उत्तर प्रदेश के उद्योग मंत्री सतीश महाना ने कहा कि विदेशी निवेशकों में अमेरिका, ब्रिटेन, दक्षिण कोरिया, जापान, फ्रांस और जर्मनी जैसे देशों की कुछ बड़ी परियोजनाएं शामिल हैं. उन्होंने नोएडा में मीडियाकर्मियों से बातचीत करते हुए व्यापार करने में आसानी के मामले में उत्तर प्रदेश के देश में दूसरे स्थान पर पहुंचने का श्रेय भारतीय जनता पार्टी सरकार की ‘उद्योग समर्थक’ नीतियों को दिया.

गर्भवती महिलाएं अब लगवा सकती हैं कोरोना वैक्सीन, स्वास्थ्य मंत्रालय से मिली मंजूरी

राज्य के औद्योगिक एवं अवसंरचना विकास आयुक्त संजीव कुमार मित्तल ने बताया, ‘कुल मिला कर हमें 17,231 करोड़ रुपये के (विदेशी) निवेश के आशय-पत्र मिले है। हम उन पर काम कर रहे है.’ महाना ने कहा कि उत्तर प्रदेश में देश विदेश हर जगह की कंपनियों की ओर से निवेश आ रहा है. प्रदेश में निवेश की इच्छा लेकर आयी बहुत सी कंपनियों को जमीन मिल गयी है और उन्होंने काम शुरू भी कर दिया है.

महाना ने कहा कि योगी सरकार ने प्रदेश में कानून व्यवस्था और बिजली आपूर्ति तथा सरकार की मदद में कमी से जुड़े सभी मुद्दों का समाधान कर दिया है. उन्होंने बताया कि प्रदेश में निवेश के प्रति रुचि दिखाने वाली विदेशी इकाइयों में से 24 अपना कारोबार खड़ा करने में लग चुकी हैं. इनमें से 22 इकाइयों ने कुल 16,653 करोड़ रुपये और दो ने कुल 78 करोड़ रुपये के निवेश के आशय-पत्र पेश किए थे.

(इनपुट भाषा से भी)

Source link