कोरोना काल में एक्सपोर्ट के मोर्चे पर आई बड़ी खुशखबरी, इतना बढ़ा निर्यात – Great news on the export front during the Corona period, exports increased so much

79

वाणिज्य मंत्रालय के शुरुआती आंकड़ों के मुताबिक मई में पेट्रोलियम उत्पादों, इंजीनियरिंग और रत्न एवं आभूषण के एक्सपोर्ट में ज्यादा बढ़ोतरी देखने को मिली है.

Written By : बिजनेस डेस्क | Edited By : Dhirendra Kumar | Updated on: 03 Jun 2021, 04:28:41 PM

Export-Import Latest News (Photo Credit: IANS )

highlights

  • मई 2021 के दौरान भारत का निर्यात 67.39 फीसदी बढ़ गया है 
  • मई में कुल 32.21 अरब डॉलर का एक्सपोर्ट दर्ज किया गया है

नई दिल्ली:

केंद्र की नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) सरकार के द्वारा जारी किए गए आंकड़ों के मुताबिक मई 2021 के दौरान भारत का निर्यात 67.39 फीसदी बढ़ गया है. मई में कुल 32.21 अरब अमेरिकी डॉलर का एक्सपोर्ट दर्ज किया गया है. वाणिज्य मंत्रालय के शुरुआती आंकड़ों के मुताबिक मई में पेट्रोलियम उत्पादों, इंजीनियरिंग और रत्न एवं आभूषण के एक्सपोर्ट में ज्यादा बढ़ोतरी देखने को मिली है. एक ओर जहां एक्सपोर्ट में बढ़ोतरी दर्ज की गई है वहीं दूसरी ओर मई में व्यापार घाटा बढ़कर 6.32 अरब डालर के स्तर पर पहुंच गया है. बता दें कि मई 2020 के दौरान 19.24 अरब अमेरिकी डॉलर का एक्सपोर्ट दर्ज किया गया था. वहीं मई 2019 में 29.85 अरब अमेरिकी डालर का एक्सपोर्ट हुआ था. 

यह भी पढ़ें: आम आदमी को मिलेगी बड़ी राहत, सरकार के इस कदम से सस्ती हो जाएगी दाल

मई में आयात 68.54 फीसदी बढ़कर 38.53 अरब डॉलर के स्तर पर पहुंचा

आंकड़ों के मुताबिक मई 2021 में इंपोर्ट के मोर्चे पर भी अच्छी बढ़ोतरी दर्ज की गई है और इस दौरान आयात 68.54 फीसदी बढ़कर 38.53 अरब डॉलर के स्तर पर पहुंच गया है. बता दें कि मई 2020 में 22.86 अरब डॉलर और मई 2019 में 46.68 अरब डॉलर का इंपोर्ट दर्ज किया गया था. मंत्रालय का कहना है कि मई 2021 में 6.32 अरब अमेरिकी डालर के व्यापार घाटे के साथ शुद्ध इंपोर्टर रहा है. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक मई 2020 के दौरान 3.62 अरब डॉलर का व्यापार घाटा हुआ था. मई 2020 की तुलना में व्यापार घाटे में 74.69 फीसदी की बढ़ोतरी दर्ज की गई थी.

यह भी पढ़ें: लचीली अर्थव्यवस्था मजबूत बुनियादी आधारों पर रहेगी सकारात्मक: अनुराग ठाकुर

आंकड़ों के मुताबिक मई महीने में ऑयल इंपोर्ट बढ़कर 9.45 अरब अमेरिकी डॉलर हो गया है. वहीं दूसरी मई 2020 की बात करें तो यह आंकड़ा 3.57 अरब अमेरिकी डॉलर का था. भारतीय व्यापार संवर्धन परिषद (टीपीसीआई) के संस्थापक अध्यक्ष मोहित सिंगला का कहना है कि परिवहन उपकरण, लोहा, इस्पात और अखबारी कागज के इंपोर्ट में कमी आना आत्मनिर्भरता की दिशा में एक महत्वपूर्ण कदम है.



संबंधित लेख

First Published : 03 Jun 2021, 04:28:41 PM

For all the Latest Business News, Economy News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.


Source link