ऑक्सीजन और रेमडेसिवीर इंजेक्शन को लेकर नोएडा पुलिस ने उठाया खास कदम, वाजिब रेट में मिलेंगी दवाइयां

10

मेडिकल उपकरण की सप्लाई को लेकर नोएडा पुलिस अलर्ट हो गई है.

Noida Corona News: पुलिस (Police) कमिश्नर ने पुलिसकर्मियों को ड्यूटी के दौरान कोरोना संक्रमण से बचाने के लिए भी गाइडलाइन जारी की है. पुलिसवालों के परिजनों के लिए भी विशेष व्‍यवस्‍था करने के निर्देश दिए गए हैं.

नोएडा. ऐसी खबरें आ रही हैं कि बाजार में ऑक्सीजन (Oxygen) और रेमडेसिवीर इंजेक्शन की कालाबाजारी हो रही है. गौतमबुद्ध नगर पुलिस ने कुछ लोगों ऑक्सीजन और रेमडेसिवीर इंजेक्शन की कालाबाजारी (Black Marketing) के आरोप में जेल भी भेजा है. लेकिन, अब कालाबाजारी रोकने और सभी को आसानी से वाजिब रेट में ऑक्सीजन और रेमडेसिवीर इंजेक्शन (Remdesivir Injection) मिल जाए, इसके लिए पुलिस ने कुछ कदम उठाए हैं. वहीं, पुलिस कमिश्नर ने पुलिसकर्मियों को ड्यूटी के दौरान कोरोना संक्रमण से बचाने के लिए भी एक गाइडलाइन जारी किया है. पुलिस कमिश्नर आलोक सिंह ने डीसीपी (क्राइम) के नेतृत्‍व में एक स्पेशल टास्क फोर्स का गठन किया है. एसटीफ दवाइयों, रेमडेसिविर इंजेक्शन, ऑक्सिजन और दूसरे जरूरी सामान की कालाबाजारी पर मुखबिर या डिकॉय कस्टमर को अलर्ट कर देगी. यह लोग ऐसी जगहों पर जाकर कालाबाजारी करने वालों की तलाश करेंगे. फिर पुलिस उन पर गैंगस्टर और एनएसए के तहत कार्रवाई करेगी. एम्बुलेंस और अंतिम शव यात्रा वाहनों द्वारा निर्धारित कीमत से अधिक किराया मांगने वालों पर लगाम लगाने के लिए डीसीपी ट्रैफिक को जिम्मेदारी दी गई है. बनेगा ग्रीन कॉरिडोर, अलर्ट रहेंगे एस्कॉर्ट ऑक्सीजन और दूसरे मेडिकल उपकरण की सप्लाई में कोई दिक्कत न आए, इसको लेकर भी व्‍यवस्‍था की गई है. मेडिकल उपकरण ले जा रहा वाहन ट्रैफिक जाम में न फंस जाए, इसके लिए नोएडा पुलिस को ग्रीन कॉरिडोर बनाने के निर्देश दिए गए हैं. ऐसे वाहनों के साथ किसी तरह की कोई बात न हो इसका भी खास इंतजाम किया गया है. ऐसे वाहनों को सुरक्षा देने के लिए एस्कॉर्ट बनाने के निर्देश दिए गए हैं.Noida Corona News: एंबुलेस वाले ने कोरोना पीड़ि‍त से 25 KM का 42 हजार लिया किराया, पुलिस ने ऐसे कराया वापस पुलिसकर्मियों और उनके परिजनों के लिए भी खास प्‍लान ड्यूटी के दौरान पुलिसकर्मियों को कोरोना वायरस के संक्रमण से सुरक्षित रखने के मकसद से भी गाइडलाइन जारी की गई है. पुलिस कमिश्नर आलोक सिंह ने सभी डीसीपी, एडीसीपी, एसीपी और थाना प्रभारियों के साथ मीटिंग करते हुए पुलिसकर्मियों को अलर्ट रहने को कहा है. सभी पुलिसकर्मियों की फ्रंटलाइन ड्यूटी होने के कारण उनकी संवेदनशीलता को प्राथमिकता देते हुए कहा कि जिन पुलिसकर्मियों का अभी तक वैक्सीनेशन नहीं हुआ है, उन्हें टीका लगवाने के लिए प्रोत्साहित करें.

पुलिस आयुक्‍त ने कहा कि पुलिसकर्मी निरंतर ड्यूटी करके घर आते हैं, इसलिए पुलिसकर्मियों के परिवार में 18 साल से अधिक आयु वाले सभी सदस्यों के लिए भी 1 मई से शुरू होने वाले टीकाकरण अभियान में विशेष व्‍यवस्‍था की जाए. पुलिस अस्पताल में लेवल वन मरीजों के लिए डॉक्टर, नर्सिंग स्टाफ और आवश्यक उपकरण की उपलब्धता के बारे में भी जानकारी लेते रहें.







Source link