अमृता फडणवीस के निशाने पर ठाकरे: Meta: amruta alleges that thackeray government is doing doing corruption in civil centres: अमृता ने कहा कि महाराष्ट्र सरकार अपने पिट्ठुओं के साथ मिलकर उद्योगपतियों से पैसे वसूलने में जुटी है

59

हाइलाइट्स:

  • अमृता फडणवीस ने साधा ठाकरे सरकार पर निशाना
  • अमृता फडणवीस ने कहा की नागपुर जैसे शहरों में कोविड मरीजों के लिए बेड उपलब्ध नहीं हैं
  • अमृता ने कहा कि महाराष्ट्र सरकार कोविड सेंटर्स के नाम पर भ्रष्टाचार करने में जुटी
  • अमृता ने कहा कि महाराष्ट्र सरकार अपने पिट्ठुओं के साथ मिलकर उद्योगपतियों से पैसे वसूलने में जुटी है

मुंबई
सचिन वझे (Sachin Waze) मामले के बाद पर जहां महाराष्ट्र सरकार की कार्यशैली पर जमकर तीखी टिप्पणियां हो रही हैं। बीजेपी (BJP) लगातार महाराष्ट्र सरकार (Maharashtra Government) पर चौतरफा हमले कर रही है। वहीं अब इस फेहरिस्त में पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस की पत्नी अमृता फडणवीस का भी नाम जुड़ गया है। सचिन वझे के बहाने अमृता फडणवीस ने ठाकरे सरकार पर निशाना साधा है।

अमृता फडणवीस (Amruta Fadnavis) ने ट्वीट करके कहा है, ‘ एक तरफ जहां नागपुर जैसे शहरों में कोरोना मरीजों को भर्ती करने के लिए अस्पतालों में जगह नहीं है, वहीं दूसरी तरफ महाराष्ट्र सरकार कोविड सेंटर्स में भ्रष्टाचार कर रही है और उद्योगपतियों को डराकर उनसे वसूली करने की योजनाएं अपने ही कुछ पिट्ठुओं के साथ मिलकर बना रही है’।

पहले भी कर चुकी हैं हमला
अमृता फडणवीस इसके पहले भी ठाकरे सरकार पर निशाना साध चुकी हैं। अर्णब गोस्वामी मामले के समय और ठाकरे परिवार की रायगढ़ के जंगल में मौजूद जमीनों को लेकर अमृता फडणवीस ने उन पर निशाना साधा था। उस समय भी अमृता फडणवीस ने राज्य की बिगड़ती कानून व्यवस्था पर सवालिया निशान लगाए थे।

मुख्यमंत्री आवास पर आधी रात तक चली मीटिंग
मुकेश अंबानी (Mukesh Ambani) के घर के बाहर मिले विस्फोटक मामले में (NIA) एनआईए सचिन वझे की तफ्तीश में जुटी हुई है। वहीं दूसरी तरफ इस मामले को लेकर महाराष्ट्र सरकार (Maharashtra Government) की मलिन होती छवि को सुधारने के लिए बैठकों का दौर शुरू है। बीती रात तकरीबन 4 घंटे तक मुख्यमंत्री के आवास पर गृहमंत्री अनिल देशमुख महाराष्ट्र पुलिस के डीजीपी हेमंत नागराले और मुंबई पुलिस कमिश्नर परमवीर सिंह की मीटिंग हुई। यह बैठक तकरीबन रात 8 बजे शुरू हुई और 12 बजे तक चलती रही।

सचिन वझे मामले में हुई बैठक
इस बैठक में सचिन वझे मामले पर विस्तार से चर्चा की गई। इसके पहले मुख्यमंत्री और शरद पवार (Sharad Pawar) की भी इसी मामले को लेकर बैठक हो चुकी है। वहीं शिवसेना नेता संजय राउत (Sanjay Raut) ने भी शरद पवार से दिल्ली में मंगलवार के दिन मुलाकात कर शिवसेना का पक्ष रखा था। बताया जा रहा था कि वझे मामले में सरकार की हो रही बदनामी के चलते पवार नाराज थे।

Source link